नई दिल्ली. कई महीनों से दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों की गैरमौजूदगी में भी महिलाओं ने किसानी को नहीं छोड़ा। अब उनकी मेहनत रंग लाई है। पंजाब में किसानों की पत्नियों, बेटी-बेटों ने खेतों में अहम भूमिका निभाई है। 13 मई तक 132 लाख 16 हजार 187 मिट्रिक टन गेंहू की फसल मंडियों में बिकी है।

एक ओर जब गेंहू बिजाई के समय 16.5 लाख किसान के लगभग आधे सदस्य दिल्ली में धरना दे रहे हैं। लेकिन इनके घर वालों ने खेती की ज़िम्मेदारी अपने कंधों पर ले ली। ये मेहनत रंग भी लाई। जिससे पंजाब के किसानों ने 26 हजार करोड़ रुपये कमाए। जो कि पिछले सीजन से तुलना करने पर 1400 करोड़ रुपये ज्यादा निकलता है।

सूबे की सरकार ने 10 अप्रैल से 13 मई तक 130 लाख मिट्रिक टन गेंहू खरीद का लक्ष्य रखा था। जिसके लिए 19.97 लाख ई-पास जारी किए गए थे। इस बार 171 लाख मिट्रिक टन उत्पादन हुआ है। वो भी ऐसे समय जब जनवरी-फरवरी में मौसम खराब था।

2 दिन के भीतर केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के दूसरे भाई राहुल बालियान की मौत, घर में पसरा मातम

Unnao Police Custody Death : उन्नाव में सब्जी बेचने वाले युवक की पुलिस पिटाई से मौत, इलाके में तनाव

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर