नई दिल्ली: मंगलवार को देशभर में किसान बिल के विरोध में जारी भारत बंद के बीच आम आदमी पार्टी ने दिल्ली पुलिस पर सीएम अरविंद केजरीवाल को उनके घर में नजरबंद करने का आरोप लगाया है. आम आदमी पार्टी ने ट्वीट कर ये जानकारी दी. हालांकि आम आदमी पार्टी के आरोपों पर दिल्ली पुलिस ने तुरंत प्रतिक्रिया देते हुए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है. उत्तरी दिल्ली के डीसीपी ने कहा कि सीएम जहां चाहें वहां जा सकते हैं.

दूसरी तरफ किसान आंदोलन के तेहरवें दिन किसानों, ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन, व्यापारी संगठणों सहित सभी विपक्षी दलों ने सम्पूर्ण भारत बंद किया. इस बंद में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, सीपीआई, सीपीएम, बीएसपी, टीआरएस, और अन्य विपक्षी दल शामिल हुए. राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी के कई नेता सड़कों पर उतरे और मोदी सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाज़ी हुई.

आम आदमी पार्टी के नेता सौरव भारद्वाज, दिलीप पांडे, सोमनाथ भारती, गिरीश सोनी, राखी बिरला और हज़ारों की संख्या में पार्टी के कार्यकताओं ने आईटीओ में धरना दिया और सरकार के कानों तक अपनी बात पहुचानी चाही. इस धरने का आयोजन आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के किसान आंदोलन और भारत बंद को समर्थन के बाद किया. मीडिया से बात करते हुए सौरव भारद्धाज ने कहा की आम आदमी पार्टी पूरी तरह से किसानों के साथ है तथा मोदी सरकार के काले कानूनों के विरुद्ध है.

दिलीप पांडे ने भी मोदी सरकार के खिलाफ आवाज़ उठाई और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नए कृषि कानून का विरोध किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को बिल को वापिस लेना चाहिए और किसानों की बात मान लेनी चाहिए. गिरीश सोनी ने कहा कि किसान एक आम आदमी है जिसकी बात सत्ता में बैठे मोदी सरकार को मान लेनी चाहिए. नए कृषि बिल को वापस लेने में ही सबकी भलाई है.

सभी आप नेताओं ने इस बात पर ज़ोर दिया कि पार्टी शांति पूर्वक किसानों की आवाज़ को बुलंद करने मे विश्वास रखती है और पार्टी चाहती है कि किसानों के साथ इंसाफ हो. देशभर में आज भारत बंद का असर देखा गया, तो साथ ही पुलिस का भारी इंतेज़ाम भी देखने को मिला. आईटीओ और आस-पास की कई सड़के भी बंद की गयी और रास्ते भी डाइवर्ट किये गए ताकि ट्रैफिक की आवाजाहि पर प्रदर्शन का प्रभाव ना पड़े.

Farmers Bill Bharat Band: किसान बिल के विरोध में भारत बंद का मिला जुला असर, बिल वापस लेने की मांग पर अड़े किसान

Amit Shah to Farmers: किसानों से बात करने को तैयार हुआ केंद्र, अमित शाह बोले- सरकार तुरंत बातचीत के लिए तैयार, हर मांग पर करेंगे विचार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर