Farmer Protest: नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघू बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. किसानों ने आज दिल्ली से कौशाम्बी की ओर जाने वाली सड़क को बंद कर दिया है. किसानों का कहना है कि जो ट्रक प्रदर्शन कर रहे किसानों को फल वितरित कर रहा था. उसे जब्त कर लिया गया है. मालूम हो कि मोदी सरकार और किसानों के बीच 6 दौर की वार्ता भी बिना किसी नतीजे के खत्म हो गई है. किसानों ने सरकार के लिखित प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि नए कृषि कानूनों के बारे में फैलाई जा रही फर्जी और भ्रामक खबरों और अफवाहों का शिकार न हों. एपीएमसी मंडियों का संचालन जारी रहेगा और नए कृषि कानूनों के पारित होने के बाद कोई एपीएमसी मंडी बंद नहीं हुई है. नए कृषि कानूनों और सुधारों के पीछे की वास्तविकता को जानें.

कृषि कानून पर किसान संगठनों को सरकार द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को किसान संगठनों ने खारिज कर दिया है. इसके बाद आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए एक बार फिर से अपील करेंगे कि सरकार के प्रस्ताव को स्वीकार करें औऱ अपने आंदोलन को समाप्त करें. नरेंद्र सिंह तोमर इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये भी साफ करेंगे कि सरकार कृषि संबंधित कानून वापस नहीं लिए जाएंगे. अगर कोई और मांग है तो उस पर विचार किया जाएगा. नरेंद्र तोमर अपनी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस से अभी तक किसान संगठनों से हुई बातचीत की जानकारी देंगे.

Farmers Bill Bharat Band: किसान बिल के विरोध में सड़कों पर निकले आप विधायक, पुलिस पर लगा सीएम अरविंद केजरीवाल को बंधक बनाने का आरोप

Ajay Shukla Exclusive Column: चरित्र हनन की सियासत देश के लिए घातक!

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर