नई दिल्ली. देश भर में आज किसानों के लिए बड़ी जीत का दिन किसानों के बीच हर्ष का माहौल है. बीते एक वर्ष से भी अधिक समय से चले आ रहे इस आंदोलन को आज नया रूप मिल गया है. तीनों कृषि कानून मोदी सरकार ने वापस ( farm laws revokes) ले लिए हैं. ऐसे में किसान दिल्ली के तमाम बॉर्डर और पूरे देश भर में जश्न मना रहे हैं, एक दुसरे का मुँह मीठा कर रहे हैं साथ ही नाचते गाते देखे जा रहे हैं. अब जब लम्बे समय से चले आ रहे आंदोलन को खात्मा होने को है तो ऐसे में सियासत एक बार फिर से तेज़ हो गई. विपक्ष ने मोदी सरकार को फिर से घेरना शुरू कर दिया. अब AIMIM प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी ने कहा कि मोदी के अहंकार ने 700 किसानों की जान ली; सड़क पर उतरी जनता, तो डर गई सरकार.

मोदी के अहंकार ने 700 किसानों की जान ली; सड़क पर उतरी जनता, तो डर गई सरकार: असदुद्दीन ओवैसी

पिछले एक साल से भी अधिक समय से चले आ रहे किसान आंदोलन की वजह से आज तीनों नए कृषि कानून केंद्र सरकार ने वापस ले लिए हैं. इसपर AIMIM प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी ने कहा कि पहले दिन से ही विपक्ष कहता रहा है कि तीनों कृषि कानून असंवैधानिक हैं. मोदी सरकार को कोई अधिकार नहीं था कि वे ऐसे कानून बनाते. इन्हें सिर्फ मोदी के अहंकार की तुष्टि के लिए बनाया गया, जिसकी वजह से 700 किसानों की जान गई. अगर मोदी अपना अहंकार एक तरफ रखकर संविधान के हिसाब से काम करते तो न यह कानून बनते और न किसानों की जान जाती. यह फैसला देर से लिया गया है. मैंने हमेशा कहा है कि जब जनता सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करती है, तो यह सरकार डर जाती है. यह सभी किसानों की जीत है.

यहाँ अहंकार की हार: अखिलेश यादव

तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के बाद अब विपक्ष ने मोदी सरकार का घेराव शुरू कर दिया है. ऐसे में एक बाद एक राजनितिक हस्तियां बयानबाजी कर रही हैं. AIMIM प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी के बाद अखिलेश यादव ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि किसानों के प्रयासों की आखिरकार जीत हुई है. यह अहंकार की हार और किसानों की, गणतंत्र की जीत है. लोग आगामी चुनावों में केंद्र सरकार को माफ नहीं करेंगे. यह झूठी माफी किसी काम नहीं आएगी. जिन्होंने माफी मांगी, उन्हें हमेशा के लिए राजनीति भी छोड़ देनी चाहिए.

यह भी पढ़ें :

John Abraham: जॉन अब्राहम ने सरेआम शख्स से छीना मोबाइल फोन, वीडियो हो गई वायरल

Peasant Movement Who gave Edge to the Struggle किसान आंदोलन के महारथी जिन्होंने दी संघर्ष को धार

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर