नई दिल्ली: अक्सर सड़क हादसों के बाद लोग घायल व्यक्ति को इसलिए बेसहारा छोड़ देते हैं कि पुलिस उन्हें बाद में तंग करेगी या फिर अस्पताल वाले मरीज का ईलाज करने से पहले उनसे पैसे मांगेंगे. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, आपको जहां भी कोई घायल व्यक्ति नजर आए तो उसे तुरंत नजदीकी अस्पताल में भर्ती करें. फिर चाहे वो अस्पताल कितना भी महंगा क्यों ना हो, उसका खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी, इसके अलावा आपके कोई पुलिसकर्मी पूछताछ भी नहीं करेगा, ना ही आपको किसी तरह परेशान किया जाएगा.

सीएम अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सरकार ने सड़क हादसे में घायल लोगों की जान बचाने के लिए नई स्कीम लॉन्च की है जिसका नाम है ‘फरिश्ते दिल्ली के’ जिसके तहत अबतक 3000 लोगों की जान बचाई जा चुकी है. इस स्कीम को लॉन्च करते हुए कहा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दुर्घटना के बाद का एक घंटा गोल्डन आवर होता है और इस दौरान अगर मरीज को अस्पताल पहुंचा दिया जाए तो उसकी जान बच सकती है. सीएम केजरीवाल ने निर्भया कांड को याद करते हुए कहा कि निर्भया मामले में पीड़ित लड़की काफी समय तक सड़क पर पड़ी रही. किसी ने उसे टाइम पर अस्पताल में भर्ती करा दिया होता तो उसकी जान बच सकती थी. सीएम केजरीवाल ने कहा कि ‘मैं चाहता हूं दिल्ली का हर नागरिक फरिश्ता बने.’

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर भी इस स्कीम की जानकारी दी: अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब रोड एक्सीडेंट में घायल की मदद करने वालों को पुलिस के चक्कर से मुक्ति मिलेगी. ईलाज का खर्चा सरकार उठाएगी, किसी भी अस्पताल में चाहे जितना खर्च हो

अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस स्कीम से जुड़ी एक वीडियो भी शेयर की है, देखें वीडियो

इस मौके पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली की सीमा में कहीं भी किसी की दुर्घटना होती है या एसिड विक्टिम है तो उसे तुंरत नजदीकी अस्पताल में ले जाएं चाहे वो कितना ही महंगा क्यों ना हो. जितना भी खर्च आएगा वो दिल्ली सरकार उठाएगी. यही नहीं, अस्पताल बदलने से लेकर एंबुलेंस के खर्च तक दिल्ली सरकार उठाएगी. यही नहीं, अगर आप किसी मरीज को उठाकर उसे अस्पताल पहुंचाते हैं तो दो लाख तक का ईनाम भी दिल्ली सरकार देगी.

Arvind Kejriwal Outsiders Remark Reactions: दिल्ली के अस्पतालों में यूपी बिहारियों के इलाज करवाने से सीएम को आपत्ति, बीजेपी-कांग्रेस नेताओं समेत लोगों का सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा, कहा- राज ठाकरे क्यों बन रहे हैं अरविंद केजरीवाल

CM Arvind Kejriwal Manoj Tiwari NRC Controversy: अरविंद केजरीवाल बोले- दिल्ली में लगा एनआरसी तो मनोज तिवारी होंगे बाहर, बीजेपी सांसद ने पूछा- क्या दूसरे राज्य के लोगों को विदेशी मानते हैं सीएम?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App