EU Diplomat on Jammu and Kashmir: जम्मू कश्मीर मे ऑर्टिकल 370 हटाए जाने केबाद धीरे-धीरे वहां की स्थिति को सामान्य बनाने की प्रक्रिया चालू है. 4जी इंटरनेट सेवा बहाली के बाद वहां कुछ विदेशी राजनयिकोंका दौरा हुआ. यूरोपीय यूनियन (एव) के दो दिवसीय दौरे ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर में जिला परिषद चुनाव (डीडीसी) और 4जी इंटरनेट सेवाओं की बहाली जैसे हाल में उठाए गए कदमों का संज्ञान लिया है. यूरोपियन यूनियन ने कहा कि उम्मीद है जल्द ही यहां विधानसभा चुनाव सहित अन्य जरूरी कदम भी उठाए जाएंगे.

यूरोपीय यूनियन के अधिकारी ने कहा, हम विधानसभा चुनाव कराने समेत राजनीतिक और आर्थिक क्षेत्र में उठाए जाने वाले कई अन्य महत्वपूर्ण कदमों का इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ऑनलाइन और ऑफलाइन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार लोकतंत्रों के लिए महत्वपूर्ण मूल्य है. हम इस मामले में भारत के साथ बातचीत जारी रखने के लिए तत्पर हैं.

EU Diplomat on Jammu and Kashmir: यूरोपीय यूनियन के राजनयिकों के अलावा, दौरे में बेल्जियम, एस्टोनिया, फिनलैंड, फ्रांस, इटली, आयरलैंड, नीदरलैंड, पुर्तगाल, स्पेन और स्वीडन के राजदूत भी शामिल थे. शेष राजदूत बांग्लादेश, ब्राजील, चिली, क्यूबा, घाना, किर्गिज गणराज्य और मलेशिया जैसे विभिन्न देशों से थे. बता दें कि जम्मू-कश्मीर मेंविधानसभा चुनावों के बारे में केंद्र सरकार ने कहा है कि परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद जम्मू और कश्मीर में चुनाव होंगे.

PM Narendra Modi Address Vishwa Bharti Convocation: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व भारती विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह को किया संबोधित

Corona Vaccine: आपदा में निखरी भारतीय उदारता, जरूरतमंद देशों को दी वैक्सीन