नई दिल्ली/ ईपीएफओ ने देश के 6 करोड़ को बड़ी राहत दी है. ईपीएफओ की बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-21 के लिए ब्याज दर का फैसला कर लिया गया है. ईपीएफओ ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए लिए पीएफ की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है यानी आपको इस वित्त वर्ष भी 8.5 फीसदी की दर से ही ब्याज मिलेगा.

बता दें कि बैठक से पहले अंदेशा लगाया जा रहा था कि ईपीएफओ ब्याज दरों में कटौती कर सकता है, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के लिए ईपीएफओ 8.50 फीसदी ब्याज को बरकरार रखा है. ऐसे में नौकरीपेशा लोगों को बड़ी राहत मिली है. आज कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के केंद्रीय न्यासी मंडल की श्रीनगर बैठक में यह फैसला लिया गया है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए पीएफ राशि पर ब्याज दर की घोषणा करता है.

पिछले साल मार्च में ईपीएफओ ने ब्याज दर घटाते हुए 8.5 फीसदी कर दिया था. बता दें कि 2019-20 के लिए पीएफ पर मिलने वाली ब्याज दर 2012-13 का सबसे निचला स्तर था.

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन हर साल पूरे वित्तीय वर्ष के लिए पीएफ में जमा पैसे पर ब्याज दर का ऐलान करता है. वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ब्याज दरों की घोषणा करते हुए बोर्ड ने कहा था कि वह 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष में दो किस्तों में 8.5 फीसदी ब्याज का भुगतान करेगा. पहली किस्त में 8.15 फीसदी डेट इन्वेस्टमेंट से और दूसरी किस्त में 0.35 फीसदी ब्याज का भुगतान इक्विट से किया जाएगा.

बता दें कि अब तक पीएफ पर इतनी ब्याज दरें रह चुकी है.

2020-21 – 8.5 फीसदी

2019-20 – 8.5 फीसदी

2018-19 – 8.65 फीसदी

2017-18 – 8.55 फीसदी

2016-17 – 8.65 फीसदी

2015-16 – 8.8 फीसदी

2013-14 – 8.75 फीसदी

Keral BJP CM E Sreedharan: केरल में बीजेपी के सीएम उम्मीदवार होंगे मेट्रो मैन ई श्रीधरन

Delivery Boy Catches 2 years Child: 2 साल की बच्ची गिरी 12वीं मंजिल से तो सुपरमैन बन डिलीवरी बॉय ने बचाई जान, वीडियो वायरल