मध्य प्रदेश: ग्वालियर में एक शख्स ने खुद को सेना का लेफ्टिनेंट बताकर कारोबारी की बेटी से सगाई कर ली. फिर जब लड़के की पोल खुली तो लड़की वालों ने रिश्ता तोड़ दिया व सगाई के दौरान दिए जेवर लौटाने की मांग की. जिसके बाद युवक लड़की को लेकर भाग गया. लड़की के परिवार वालों ने युवक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया है.

मामला दर्ज करके पुलिस अब फर्जी लेफ्टिनेंट और लड़की की तलाश में जुट गई है. सुरेन्द्र सिंह राठौर ने लगभग सालभर पहले अपनी बेटी के रिश्ते के लिए गुड्‌डू राठौर से बातचीत की थी. गुड्डू ने बताया कि उनका बेटा सुनील राजपूत सेना की रेजीमेंट में लेफ्टीनेंट है. दोनों परिवारों में बातचीत होने के रिश्ता तय हुआ था.

वहीं लड़के-लड़की ने भी एक दूसरे को पसंद कर रिश्ता पक्का कर दिया था. सुनील के पिता ने अपने बेटे के सेना का आईडी कार्ड, उसकी सेना में भर्ती के दौरान अख़बार में छपे फोटो और वर्दी के फोटो लड़की व उसके परिवार को दिखाए. सुनील भी अपनी होने वाले ससुराल में दो- तीन बार आया था. इस बीच वो सेना की वर्दी में ही रहता था. रिश्ता तय होने के बाद लड़का-लड़की फोन पर आपस में बात करने लगे. इन सभी के बाद दोनों की सगाई आयोजित हुई, जिसमें लड़की के पिता सुरेंद्र सिंह ने लड़के को अंगूठी, चेन के साथ ही अन्य कीमती उपहार दिए थे.

कुछ समय बाद बाद सुरेन्द्र सिंह को शक हुआ जिसके बाद उन्होंने आर्मी से सुनील के बारे में पूछताछ की. तब उन्हें पता चला कि उनका होने वाला दामाद सेना में नहीं है बल्कि खाली समय में घूमने वाला बेरोजगार है.

इस बारे में सुरेंद्र ने लड़के के पिता गुड्डू से बातचीत की, लेकिन वो सच मानने को तैयार नहीं हुए. जिसके बाद सुरेंद्र को खबर आई कि सुनील ग्वालियर से उसकी बेटी को बहला कर अपने साथ ले गया. इसके बाद लड़की के पिता ने थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया. सुरेंद्र की तहतीर पर पुलिस अब फर्जी लेफ्टिनेंट सुनील और लड़की की तलाश में जुट गई है

यब भी पढ़े-

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर