नई दिल्ली. निर्वाचन आयोग के साथ दिनभर चली बैठक के बाद ये तय हुआ कि चुनाव में सोशल मीडिया और इंटनेट कंटेंट के सही इस्तेमाल के लिए एक आचार संहिता बनाई जाय. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स और इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया इस बात पर सहमत हुए कि बुधवार शाम तक सभी पक्षकार आचार संहिता के प्रावधान पर अपनी राय निर्वाचन आयोग को दें. ताकि समय रहते यह बन जाए और इसका इस्तेमाल भी हो.

सुबह साढ़े दस से शाम 6 बजे तक चली बैठक में इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के नुमाइंदों के साथ गूगल, फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, टिकटोक जैसे सोशल मीडिया के अन्तर्राष्ट्रीय प्लेटफॉर्म्स के आला अधिकारियों ने हिस्सा लिया.

आयोग की ओर से मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा, साथी आयुक्तों अशोक लवासा और सुशील चन्द्र के अलावा आयोग की तकनीकी टीम के विशेषज्ञ भी मौजूद थे.

मीटिंग में ये मसला भी उठा कि मौजूदा चुनाव में जनमत पर सोशल मीडिया का असर बढ़ता जा रहा है. इसके साथ ही फेक न्यूज, अफवाहें, पेड न्यूज जैसी कई गलत असर डालने वाली सामग्री भी धड़ल्ले से इंटरनेट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर चलते हैं. इससे जनमत पर बुरा असर पड़ता है. लिहाज़ा ऐसे मामलों में सोशल मीडिया अपनी तरफ से कार्रवाई करे.

RLD Loksabha 2019 Candidate List: आरएलडी उम्मीदवारों का ऐलान, लोकसभा 2019 चुनाव में मुजफ्फरनगर से अजीत सिंह, बागपत से जयंत चौधरी लड़ेंगे चुनाव

Bihar Mahagathbandhan Seat Sharing: आरजेडी की कांग्रेस को धमकी, बिहार में आठ सीट से ज्यादा नहीं, बेशक महागठबंधन से बाहर निकल जाएं