नई दिल्लीः Akhilesh Yadav Under ED lens in Mining Scam: उत्तर प्रदेश में अवैध खनन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने केस दर्ज किया है. ईडी ने सीबीआई द्वारा दर्ज एफआईआर के आधार पर मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है. इस मामले की सीबीआई जांच कर रही है और बीते दिनों जांच के सिलसिले में आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला और समाजवादी पार्टी के नेताओं के ठिकानों पर सीबीआई ने रेड डाला था. समाजवादी पार्टी के विधायक रमेश मिश्रा, लीज होल्डर आदिल खान समेत कई और नामी लोग जांच के घेरे में हैं.

मालूम हो कि जांच के जद में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी आ सकते हैं, क्योंकि यह मामला उनके मुख्यमंत्री रहने के समय का है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी पूछताछ हो सकती है. अखिलेश यादव 2012 से 2013 के बीच मुख्यमंत्री पद के साथ खनन विभाग संभाल रहे थे. सीबीआई ने जांच शुरू करने से पहले कहा कि एनजीटी के रेत खनन पर रोक लगाने के बाद भी अधिकारियों ने इसकी इजाजत दी और यूपी में रेत का खनन किया गया.

उल्लेखनीय है कि अवैध खनन मामले में सीबीआई ने जिन 11 लोगों को आरोपी बनाया था, प्रवर्तन निदेशावय ने भी उन्हें आरोपी बनाया है. इन लोगों से जल्द ही पूछताछ हो सकती है. आईएएस बी. चंद्रकला और समाजवादी पार्टी एमएलसी रमेश चंद्र मिश्रा समेत 11 आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

Mayawati Mahagathbandhan Press Conference Highlights: भतीजे पर मायावती की सफाई, आकाश आनंद बसपा में किसी पद पर नहीं, पार्टी आंदोलन से जोड़ूंगी

Shivpal Yadav on Guest house case: गेस्ट हाउस कांड पर शिवपाल यादव का बड़ा बयान, जांच के लिए तैयार हूं, मेरे साथ मायावती का भी हो नार्को टेस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App