नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान होने ही वाला है. चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक, आज यानी 10 मार्च की शाम 5 बजे विज्ञान भवन दिल्ली में लोकसभा चुनावों को देखते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंल होगी. इस कॉन्फ्रेंस में लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जाएगा. चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद आचार संहिता लागू हो जाएगी. इसके साथ ही सभी राजनीतिक दल जोर-शोर से चुनाव प्रचार में लग जाएंगे. इसके साथ ही ये भी बताया जा रहा है कि आयोग पहले की तरह आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव भी लोकसभा चुनाव के साथ करा सकता है.

इस बीच सभी राजनीतिक पार्टियां अभी से जनता को लुभाने के लिए रैली में तरह-तरह के दावे-वादे कर रहे हैं और इसके लिए एयर स्ट्राइक और राफेल डील जैसे मसले को खूब उछाल रहे हैं. इस बीच चुनाव आयोग (ईसी) ने सभी राजनीतिक दलों को निर्देश दिए हैं कि वे चुनाव प्रचार में सैन्य कर्मियों के फोटो का कतई इस्तेमाल न करें. शनिवार को चुनाव आयोग ने एक बयान जारी कर राजनीतिक दलों, उसके उम्मीदवारों और नेताओं से साफ-साफ कहा कि वे चुनाव प्रचार या पोल कैंपेनिंग में में सैन्य कर्मियों या सैन्य बलों एवं उनकी तस्वीरों का इस्तेमाल बिल्कुल न करें.

मई 2019 को मोदी सरकार का कार्यकाल खत्म हो जाएगा और इसको देखते हुए चुनाव आयोग ने पूरी तरह से तैयारियां कर ली हैं. इस चुनाव को लेकर चुनाव आयोग की सभ तैयारियां अंतिम चरण में हैं आज रविवार को शाम पांच बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में चुनावों की तारीख का ऐलान करेगा और तभी पता चलेगा कि इस बार का लोकसभा चुनाव कितने चरणों में होगा. बता दें कि पिछला लोकसभा चुनाव नौ चरणों में 7 अप्रैल से 12 मई के बीच हुआ था. इस बार चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही लोकसभा चुनाव के लिए विस्तृत जानकारी भी दे दी जाएगी.

Loksabha Election 2019: यूपी में सपा- बसपा गठबंधन के बिना किस आधार पर 2019 लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत की दावा कर रही राहुल गांधी की कांग्रेस ?

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी की पहली लिस्ट से बीजेपी में खुशी की लहर!

2 responses to “EC Lok Sabha Election 2019 Date: लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान, 11 अप्रैल से 19 मई तक 7 चरण में होगी वोटिंग, नतीजे 23 मई को”

  1. कांग्रेस एक देशद्रोही गिरोह है कांग्रेस ने हमेशा आतंकवादियों के साथ मिलकर देश में आतंक फैला कर राज किया है इसलिए देश में बनेगी फिर एक बार मोदी सरकार

  2. कांग्रेस को वोट देने का मतलब है आतंकवादियों का समर्थन करना जो लोग आतंकवाद का खात्मा चाहते हैं वो कांग्रेस या कांग्रेस का समर्थन करने वाले किसी भी दल को वोट नहीं देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App