नई दिल्ली. दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के संयुक्त सचिव उमाशंकर की कुर्सी पर खतरा मंडराने लगा है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ABVP की टिकट पर चुनाव जीते उमाशंकर अपने पहले की सेमेस्टर की परीक्षाओं में फेल हो गए हैं. जिसके चलते उन्हें अपने पद से हाथ धोना पड़ा सकता है.

दिल्ली विश्वविद्यालय ने रविवार को रिजल्ट जारी किया दिल्ली विश्वविद्यालय के मोती लाल नेहरु कॉलेज से संस्कृत में बीए ऑनर्स कर रहे उमाशंकर ने पहले सेमेस्टर के किसी भी विषय (हिंदी सिनेमा, शास्त्रीय संस्कृत साहित्य, संस्कृत साहित्य और पर्यावरण विज्ञान) की परीक्षा नहीं दी है.

इस मामले में NSUI के राज्य अध्यक्ष अक्षय लाकरा का कहना है कि उमाशंकर का रिजल्ट एक छात्र के रूप में उनकी गंभीर लापरवाही को दर्शाता है. जो अपने पहले सेमेस्टर की परीक्षा भी देने नहीं पहुंचा. वहीं छात्र संघ के कार्यालय ने भी पाया है कि उमा एक पदाधिकारी बनने के योग्य लायक हैं. बता दें कि उमाशंकर एबीवीपी का प्रतिनिधित्व करते हैं.

वहीं इस मामले में उमाशंकर का कहना है कि उनके फेल होने की खबरें बेबुनियाद है. इस बारे में उन्होंने कहा कि वह परीक्षा में फेल नहीं हुए हैं. दिसंबर में तबीयब खराब होने की वजह से वह सेमेस्टर की परीक्षा नहीं दे पाए थे.

केंद्रीय सूचना आयोग का वित्त मंत्रालय को आदेश- नोटबंदी के बाद पकड़े गए कालेधन की जानकारी दें

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App