नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगले हफ्ते भारत आ रहे हैं. ट्रंप का काफिला जिन सड़कों से होता हुआ आगे बढ़ेगा उसके दोनों तरफ आनन-फानन में दीवार खड़ी की जा रही है ताकि गरीबी को छिपाकर मुस्कुराहट के साथ ट्रंप से पूछा जा सके. केम छो? मजा मा? गुजरात सरकार ट्रंप के स्वागत में 100 करोड़ रूपये खर्च कर रही है वहीं ट्रंप भी भारत आने के लिए उत्सुक नजर आ रहे हैं.

ट्रंप ने मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे वादा किया है कि अहमदाबाद में एयरपोर्ट से लेकर स्टेडियम मिलाकर 70 लाख लोग उनके स्वागत में खड़े होंगे. अब अहमदाबाद की जनसंख्या की बात करें तो 2011 में अहमदाबाद की आबादी 56 लाख थी. फिलहाल इस शहर की आबादी करीब 85 लाख है. ट्रंप के दावों पर विश्वास करें तो मोदी सरकार ट्रंप के लिए पूरे शहर को सड़क के दोनों तरफ और स्टेडियम में खड़ा करने की तैयारी कर रही है? या फिर ट्रंप के इस्तकबाल के लिए दूसरे राज्यों से भी लोगों को गुजरात लाया जाएगा? ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

राष्ट्रपति ट्रंप ने एक और और कही और वो ये कि भारत का अमेरिका के साथ व्यवहार ठीक नहीं है लेकिन उन्हें पीएम नरेंद्र मोदी पसंद हैं. ट्रंप ने ये भी कहा कि वो फिलहाल भारत के साथ कोई डील नहीं करने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि डील बाद के लिए बचाकर रखा है, वो डील अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से पहले होगा या नहीं ये तो पता नहीं लेकिन बहुत बड़ा डील होगी. अब सवाल ये उठता है कि ट्रंप आखिर भारत आ क्यों रहे हैं?

क्या ट्रंप भी प्रचार की वही रणनीति अपना रहे हैं जो पीएम मोदी ने अमेरिका जाकर अपनाई थी? लेकिन फिर सवाल ये उठता है कि भारत में तो अमेरिकी हैं नहीं, फिर ट्रंप किसको लुभाने आ रहे हैं? हां ये जरूर हो सकता है कि ट्रंप इस कार्यक्रम के जरिए खुद को वैश्विक नेता के तौर पर स्थापित करने की कोशिश कर रहे हों जिसका फायदा उन्हें अमेरिकी चुनाव में देखने को मिले.

Iran US Conflict Live Updates: दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की ओर? ईरान का दावा- इराक में 15 मिसाइल अटैक में 80 अमेरिकी जवानों की हत्या कर कासिम सुलेमानी की मौत का लिया बदला, यूएस प्रेजिडेंट डोनाल्ड ट्रंप बोले- ऑल इज वेल!

Hezbollah Warning to US Forces: ईरान के साथ युद्ध जैसे हालातों के बीच हिज्बुल्लाह ने दी चेतावनी, कहा- मध्य पूर्व में मौजूद अमेरिकी सेना ताबूतों में करेगी घर वापसी