Saturday, June 25, 2022

Domestic LPG cylinder price Hike : घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में 15 रुपये की बढ़ोतरी, जानें अपने शहर की नई कीमत

नई दिल्ली. त्योहार से पहले आम आदमी को लगा झटका क्योंकि तेल विपणन कंपनियों ने एक बार फिर घरेलू रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 15 रुपये की बढ़ोतरी की है। तेल कंपनियों ने बिना सब्सिडी वाले 14.2 किलो के सिलेंडर के दाम में 15 रुपये की बढ़ोतरी की है। इसके बाद अब दिल्ली में रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 884.50 रुपये से बढ़कर 884.50 रुपये हो गई है। 899.50 रुपये प्रति सिलेंडर।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट पर उपलब्ध विवरण के अनुसार, कोलकाता में, 19 किलो के वाणिज्यिक सिलेंडर की कीमत अब 1,805.50 रुपये होगी। पहले कीमत 1770.50 रुपये थी।

एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत सरकारी तेल कंपनियां तय करती हैं। कीमत अंतरराष्ट्रीय ईंधन दरों से प्रभावित है।इससे पहले, 1 सितंबर को, एक घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी। बढ़ोतरी के बाद, दिल्ली में 14.2 किलो के रसोई गैस सिलेंडर की कीमत बढ़कर 884.50 रुपये हो गई थी।

एलपीजी की कीमत ऐसे करें चेक  

अपने शहर में रसोई गैस सिलेंडर की कीमत चेक करने के लिए आप सरकारी तेल कंपनी की वेबसाइट पर जाएं. यहां पर कंपनियां हर महीने नए रेट्स जारी करती हैं. https://iocl.com/Products/IndaneGas.aspx लिंक पर आप अपने शहर के गैस सिलिंडर के नए दाम चेक कर सकते हैं.

इसस पहले सरकार ने नेचुरल गैस की कीमतों में 62 फीसदी का इजाफा किया है. और यही वजह है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बेंचमार्क भाव बढ़ने के बाद सरकार ने घरेलू गैस की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की है. अक्टूबर-मार्च छमाही (अक्टूबर 2021 से मार्च 2022) के लिए नैचुरल गैस की कीमत बढ़कर अब 2.90 डॉलर हो गई है. अप्रैल-सितंबर 2021 छमाही के लिए यह कीमत 1.79 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू थी. यानी नेचुरल गैस की बढ़ती कीमत ने घरेलू गैस से लेकर सभी गैस की कीमत बढ़ा दी है।

आपको बता दें कि नेचुरल गैस के दाम बढ़ने के कारण सीएनजी , पीएनजी  और रसोई गैस  की कीमतों में इजाफा हुआ है। इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेडज  ने दिल्ली-एनसीआर में सीएनजी के भाव 2.55 रुपये प्रति किलो तक बढ़ा दी है. वहीं, के दाम में 2.10 रुपये प्रति घन मीटर का इजाफा किया गया है।

Weather Updates : दिल्ली, यूपी और हरियाणा के इन इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट, जानिए मौसम का ताज़ा हाल

Electricity Crisis : देश के पॉवर प्लांट्स में बचा चार दिन का कोयला, 6 महीने तक रह सकती है बिजली की किल्लत

 

SHARE

Latest news

Related news