Devendra Fadnavis Resignation PC Speech: महाराष्ट्र में नई सरकार पर जारी असमंजस के बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल से मिलने के बाद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में 5 साल राज्य की सेवा का अवसर देने के लिए जनता का आभार व्यक्त किया. इसके साथ ही देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा शिवसेना से कभी भी 50-50 फॉर्मूले पर चर्चा नहीं हुई थी. आइए जानते हैं देवेंद्र फडणवीस के प्रेस कॉन्फ्रेंस की 10 बड़ी बातें जो उन्होंने शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहीं.

देवेंद्र फडणवीस के प्रेस कॉन्फ्रेंस की 10 बड़ी बातें

  • देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मैंने उद्धव ठाकरे के साथ कई मुद्दों पर काम किया है लेकिन इस बार मैंने उद्धव ठाकरे को फोन किया तो उन्होंने मुझसे बात नहीं की. शिवसेना और बीजेपी के बीच सीएम पद को लेकर 50-50 फॉर्मूले पर मेरी मौजूदगी में कोई चर्चा नहीं हुई. मैंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, नितिन गडकरी से इस बारे में पूछा लेकिन उन्होंने भी सीएम पद पर 50-50 फॉर्मले को लेकर किसी भी तरह की चर्चा होने से इनकार किया.
  •  प्रेस कॉन्फ्रेंस में देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि एक बार फिर महाराष्ट्र में बीजेपी के नेतृत्व में सरकार आएगी. इस पर शिवसेना के संजय राउत ने फडणवीस को शुभकामना दी है और कहा है कि मैं भी शिवसेना की तरफ से कहना चाहता हूं कि हम चाहें तो सरकार बना सकते हैं और सीएम शिवसेना का हो सकता है.
  • एनसीपी और शिवसेना पर निशाना साधते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि जब चुनाव साथ मिलकर लड़े थे तो एनसीपी के साथ चर्चा क्यों की जा रही है. मैंने खुद उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की थी. उद्धव के करीबी लोग बेवजह बयानबाजी कर रहे हैं.
  •  महाराष्ट्र के कार्यवाहक सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे या संजय राउत का नाम लिए बिना कहा कि शिवसेना नेताओं के बयान से वो काफी आहत हैं. बीजेपी नेताओं ने कभी बाला साहेब और उद्धव ठाकरे के खिलाफ कोई गलत बयान नहीं दिया. लेकिन शिवसेना के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया. उन्होंने कहा कि शिवसेना नेताओं की ओछी बयानबाजी गलत चीज है और ऐसा बयान तो राजनीतिक विरोधी भी नहीं देते. उन्होंने कहा कि शिवसेना के बयानों से बीजेपी का हर कार्यकर्ता आहत है.
  • देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र ने हमें लोकसभा चुनाव के दौरान एक बड़ा जनादेश मिला और यहां तक विधानसभा चुनाव में हमें सहयोगी के रूप में चुनावों का सामना करना पड़ा. महायुति को स्पष्ट जनादेश मिला. हम 160 से अधिक सीटें जीतने में कामयाब रहे. बीजेपी 105 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी.
  • देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस्तीफे के बाद राज्यपाल ने एक्टिंग सीएम के तौर पर काम करते रहने को कहा है जब तक कोई नई व्यवस्था नहीं हो जाती. महायुति का सरकार न बनना जनादेश का अपमान है. यह गलत है. जनता पर दोबारा चुनाव थोपना गलता है.
  • शिवसेना पर हमला करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि जनादेश मिलने पर सरकार न पाने का उन्हें अफसोस है. कुछ लोग जानबूझकर बयान दे रहे हैं जैसे विधायकों को हमने घेरे में रखा है. मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि वे साबित करें या फिर माफी मांगे.
  • देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि भाजपा पर खरीद फरोख्त के झूठे आरोप लगाए गए. उद्धव ठाकरे के करीबी लोग अलग-अलग बयान दे रहे हैं. लोगों ने महागठबंधन को वोट दिया था. हम मोदीजी के नेतृत्व में जनता के पास गए थे. चुनाव में बीजेपी की जीत का स्ट्राइक रेट 70 पीसदी रहा.
  •  प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिवसेना के नेता उद्धव ठाकरे ने नतीजे के बाद पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विकल्प खुले होने की बात कही. हमें इस बयान से झटका लगा. हमें काफी दुख हुआ.
  • देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि पिछले 5 वर्षों के कार्यकाल में हमने महाराष्ट्र में इन्फ्रास्ट्रक्चर, रेलवे, एयरपोर्ट, मेट्रो आदि पर काफी काम किया. लोगों ने हमारे काम की वजह से दोबार हम पर भरोसा किया. इस बार हमारी सीटें थोड़ी कम रह गईं.

Maharashtra Government Formation Or President Rule LIVE Updates: महाराष्ट्र में नहीं बनी बीजेपी-शिवेसना की सरकार, सीएम देवेंद्र फडणवीस का इस्तीफा, शरद पवार से मिले संजय राउत, बनेगी सरकार या राष्ट्रपति शासन, बड़ा सवाल ?

Maharashtra Shiv Sena Chief Minister: महाराष्ट्र में बढ़ी शिवसेना बीजेपी में तनातनी, आदित्य ठाकरे फॉर CM के लगे पोस्टर, संजय राऊत ने कहा हमारा ही होगा मुख्यमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App