मुंबई. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को भाजपा सांसद अनंतकुमार हेगड़े के इस दावे को खारिज कर दिया कि पिछले महीने केवल 40,000 करोड़ रुपये के केंद्रीय कोष का दुरुपयोग होने से बचाने के लिए बहुमत न होने के बावजूद उन्हें सीएम बनाया गया था. फडणवीस ने कहा कि, न तो केंद्र ने कोई धनराशि मांगी और न ही महाराष्ट्र सरकार ने इसे वापस भेजा. वहीं विपक्षी कांग्रेस और शिवसेना ने भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री की आलोचना की. दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री हेगड़े ने शनिवार को महाराष्ट्र में पिछले महीने के राजनीतिक नाटक को एक नया मोड़ दिया. उन्होंने यह दावा किया कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि विकास कार्यों के लिए निधियों की रक्षा की जाए, ये खेल खेला गया था. उन्होंने कहा, आप सभी जानते हैं कि हाल ही में महाराष्ट्र में सिर्फ 80 घंटे के लिए हमारा व्यक्ति मुख्यमंत्री था, लेकिन जल्द ही फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया. हमें यह नाटक क्यों करना पड़ा? क्या हमें पता नहीं था – यह जानने के बावजूद कि हमारे पास बहुमत नहीं है, वह सीएम क्यों बने? यह वही सवाल है जो आमतौर पर हर एक ने पूछा.

हेगड़े ने कहा, लगभग 40,000 करोड़ रुपये से अधिक सीएम के नियंत्रण में था. अगर एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना निश्चित रूप से सत्ता में आते तो 40,000 करोड़ रुपये विकास कार्यों के लिए नहीं गए होते और विभिन्न चीजों के लिए इनका दुरुपयोग हुआ होता. हालांकि, फडणवीस ने हेगड़े के दावे को बिल्कुल गलत बताया और कहा कि ऐसा कुछ नहीं हुआ. यह बिल्कुल गलत है और मैं इसका पूरी तरह से खंडन करता हूं. केंद्र सरकार की एक कंपनी बुलेट ट्रेन परियोजना को लागू कर रही है, जहां महाराष्ट्र सरकार की भूमिका केवल भूमि अधिग्रहण तक ही सीमित है. न तो केंद्र ने कोई धनराशि मांगी और न ही महाराष्ट्र सरकार ने इसे वापस भेजा. रिपोर्ट पूरी तरह से गलत हैं. उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण के अलावा बुलेट ट्रेन परियोजना में महाराष्ट्र सरकार की कोई भूमिका नहीं है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार का एक भी रुपया केंद्र से वापस नहीं किया गया है. मैंने मुख्यमंत्री या कार्यवाहक मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान ऐसा कोई नीतिगत निर्णय नहीं लिया है. जो लोग केंद्र और राज्यों की लेखा प्रणाली को समझते हैं, उन्हें पता होगा कि धन का ऐसा कोई हस्तांतरण नहीं होता है.

फडणवीस ने कहा कि राज्य के वित्त विभाग को आवश्यक जांच करनी चाहिए और सच्चाई को सामने लाना चाहिए. बीजेपी नेता ने कहा कि इस तरह का गलत बयान जारी करना और (हमारी) प्रतिक्रिया देना गलत है. फडणवीस ने यह भी कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि हेगड़े ने इस तरह का बयान दिया या नहीं, क्योंकि कुछ मीडिया रिपोर्टों के जरिए यह बात उनके सामने आई. शिवसेना, कांग्रेस ने हेगड़े के दावों पर फडणवीस की लताड़ लगाई, शिवसेना ने हेगड़े के दावे को महाराष्ट्र के विश्वासघात के रूप में वर्णित किया. शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि फडणवीस और भाजपा महाराष्ट्र के लोगों के अपराधी थे.

संजय राउत ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव और सीएम उद्धव ठाकरे इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण देंगे. इस बीच, कांग्रेस ने फडणवीस पर भाजपा सांसद के दावे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जवाब मांगा. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया. उन्होंने कहा, एक केंद्रीय मंत्री ने मोदी सरकार का पर्दाफाश किया. भाजपा का महाराष्ट्र विरोधी चेहरा बेनकाब हो गया है. क्या संघीय ढांचे को कुचल दिया गया है? क्या किसी षड्यंत्र के माध्यम से जनता और किसानों के कल्याण के लिए 40,000 करोड़ रुपये निकाले गए थे? प्रधान मंत्री जवाब दें!

Also read, ये भी पढ़ें: Anant Kumar Hegde Devendra Fadnavis CM Claim: बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगड़े का चौंकाने वाला बयान, 40 हजार करोड़ बचाने के लिए देवेंद्र फडणवीस को बनाया गया 80 घंटों का सीएम?

Pankaja Munde To Quit BJP: महाराष्ट्र में बीजेपी को लग सकता है फिर बड़ा झटका, पंकजा मुंडे की शिवसेना में शामिल होने की अटकलें तेज, ट्विटर से भाजपा हटाया, फेसबुक पोस्ट में छोड़ने का इशारा

Rahul Bajaj Government Criticism Social Media Reaction: राहुल बजाज ने की सरकार की आलोचना, सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा- किसी ने तो दिखाई हिम्मत

Nirmala Sitharaman on Rahul Bajaj criticism: राहुल बजाज के सरकार की आलोचना करने पर भड़कीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कहा- राष्ट्रीय हित को नुकसान पहुंचा सकती है आलोचना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App