नई दिल्ली. आज सुबह आंखे खोलते ही दिल्ली-एनसीआर के लोगों का सामना स्मॉग से बने मोटे चादरों से हुआ. पूरा दिल्ली-एनसीआर एक बार फिर से प्रदूषण के चपेट में है. लोगों को सुबह-सुबह सांस लेने में परेशानियों के सामना करना पड़ा. दिल्ली-एनसीआर की कई जगहों पर हवा की क्वॉलिटी का स्तर खतरनाक लेवल पर पहुंच गया है. दिल्ली के जहांगीर पूरी, पंजाबी बाग और वजीरपूर में हवा में प्रदूषण का स्तर 239 के  तक पहुंच गई.

हवा की क्वॉलिटी का डाटा देनी वाली संस्थान aqicn.org जो रियल टाइम हवा की गुणवत्ता दुनिया के 60 देशों को देती है. उसके अनुसार खासकर शहरों में हवा की गुणवत्ता का स्तर बहुत ही खराब स्थिति में है.

सोमवार के सुबह दिल्ली-एनसीआर का जो एयर क्वॉलिटी इंडेक्स दर्ज किया गया. रोहिणी में प्रदूषण का स्तर 201, द्वारका प्रदूषण का स्तर- 194, पूसा रोड प्रदूषण का स्तर -182, मंदिर मार्ग में प्रदूषण का स्तर 179, नोएडा सेक्टर में प्रदूषण का स्तर 62- 217, नोएडा सेक्टर 125 में प्रदूषण का स्तर – 202, गाजियाबाद में प्रदूषण का स्तर – 252, आंनद विहार में प्रदूषण का स्तर – 218 और पटपड़गंज में प्रदूषण का स्तर- 189 दर्ज की गई. इसका एक कारण दिल्ली के पड़ोसी राज्य हरियाणा और पंजाब के खेतों में पराली को जलाना है.

Also Read, ये भी पढ़े- Delhi NCR Air Pollution Quality Down: दिल्ली-NCR की जहरीली हवा में सांस लेना फिर मुश्किल, 228 अंक के साथ खराब श्रेणी में पहुंचा राजधानी का एयर इंडेक्स

Odd Even in Delhi: जहरीली होती जा रही है दिल्ली की हवा, सीएम अरविंद केजरीवाल बोले- कभी भी लागू हो सकता है ऑड-ईवन फॉर्मूला

आज के प्रदुषण के स्तर को देखने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री का एयर क्वॉलिटी इंडेक्स पर की गई सारी ट्वीट का अब कोई मतलब नहीं रहा. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि एयर क्वॉलिटी को हमने काफी हद तक कंट्रोल किया था लेकिन हरियाणा के करनाल खेतों में जो पराली जलाएं जा रहें हैं. उसकी धुआं अब दिल्ली पहुंचने लगी है. जिसके वजह से दिल्ली-एनसीआर की हवाओं की गुणवत्ता पर असर हो रही है.

एयर क्वॉलिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च के अनुसार खेतों में पराली जलाएं जाने के कारण दिल्ली-एनसीआर के प्रदूषण में 6 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. जीआरएपी ने दस सदस्यों की टीम गठित किया है जो पंजाब और हरियाणा में पराली जलाएं जाने की रिपोर्ट देंगे. दिल्ली के पड़ोसी राज्यों में पराली जलने का असर दिल्ली-एनसीआर की हवाओं पर बहुत होता है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पहले ही एयर क्वॉलिटी कंट्रोल करने के लिए ऑड-इवेन लाने का निर्णय कर लिया है. दिल्ली में इसबार ऑड-इवेन नवंबर के पहले सप्ताह से लागू होगी.

 

 

Also Read, ये भी पढ़े- 

Dehli-NCR Pollution: जुर्माना देकर पराली जला रहे किसान, अगले 3 दिन जहरीली होगी दिल्ली-एनसीआर की हवा

Delhi Diwali Air Pollution, Quality, Smog AQI Highlights: दिवाली के अगले दिन घुटा दिल्ली-एनसीआर का दम, प्रदूषण जानलेवा स्तर पर

Lakshmi Puja 2019: शरद पूर्णिमा के दिन ऐसे करें लक्ष्मी पूजा, पूरी पूजा विधि, शुभ मुहूर्त जिससे धन की देवी होंगी खुश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App