नई दिल्ली, अर्थव्यवस्था को बेहतर स्थिति में लाने के लिए और लगातार देश को विकास के पथ पर बढ़ाने के लिए कई उद्योग धंधे और ट्रांसपोर्ट कार्यरत हैं. ऐसे में स्थिति यह है कि देश भर में जगह-जगह दम घोंटू प्रदूषण का माहौल है. राजधानी दिल्ली और मुंबई में हाल और भी बुरा है. यहाँ की हवा में तो मानों ज़हर ही घुल गया है. इन इंसानी गतिविधियों से होने वाले प्रदूषण खासतौर से कार्बन उत्सर्जन का असर वायुमंडल में सदियों तक रहता है. जिसकी वजह से वैश्विक गर्मी बढ़ रही है. यानी ग्लोबल वार्मिंग. ग्लोबल वार्मिंग की वजह से समुद्री जलस्तर में बढ़ोतरी हो रही है. साथ ही, इस समय पंजाब और हरियाणा में पराली जलाई जा रही है, जिससे दिल्ली ( Delhi Pollution ) समेत अन्य पड़ोसी राज्यों में प्रदूषण ( Air Pollution ) का स्तर बढ़ गया है.

‘बेहद खराब’ श्रेणी में दिल्ली की आवोहवा

दिल्ली में अब गुलाबी ठंड पड़ रही है. ऐसे में, प्रदूषण का स्तर बढ़ते जा रहा है, हरियाणा पंजाब और आस-पास के राज्यों में पराली के मामले बढ़ने की वजह से दिल्ली की हवा प्रदूषित होती जा रही है. ऐसे में दिल्ली में हवा का स्तर बेहद खराब श्रेणी में पहुँच गया है. मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में दिल्ली का प्रदूषण स्तर बढ़ सकता है क्योंकि आने वाले दिनों में पराली जलाने की घटनाएं बढ़ेंगी.

मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने दिन में आंशिक तौर पर बादलों के साथ धूप की आवाजाही का अनुमान जताया है. वहीं, अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 278 यानी ‘खराब’ श्रेणी में रह सकता है.

 

यह भी पढ़ें :

Non-bailable warrant against Parambir singh: परमवीर सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

SBI Customers are Getting 2 Lakhs For Free एसबीआई के ग्राहकों को फ्री में मिल रहे 2 लाख, ऐसे उठाएं फायदा

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर