नई दिल्ली. कोरोना वायरस के बढ़ते केस के कारण राष्ट्रीय राजधानी संकट के दौर से गुजर रहा है. इसके कारण, अस्पताल बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य चिकित्सा सुविधाओं से बाहर चल रहे हैं. यही नहीं, वहां प्लाज्मा की भी कमी हैं, दिल्ली सरकार लोगों को बाहर आने और प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है. हाल ही में, दिल्ली पुलिस ने प्लाज्मा डोनर्स, जीवन रक्षक का एक डिजिटल डाटा बैंक स्थापित किया है.

यह पहल दिल्ली पुलिस की आधिकारिक वेबसाइट–delhipolice.nic.in पर शुरू की गई है. यह पहल सीओवीआईडी ​​रोगियों को उपयुक्त प्लाज्मा दाता खोजने में मदद करेगी. यह प्लाज्मा दाताओं को जरूरतमंद लोगों तक आसानी से पहुंचने में भी मदद करेगा.

यह घातक वायरस के इलाज के लिए एक प्रायोगिक प्रक्रिया है. इसमें एंटीबॉडी होते हैं जो रोग से लड़ने में एक सीओवीआईडी ​​रोगी की मदद कर सकते हैं. इस इलाज में, प्लाज्मा, रक्त का एक पीला तरल हिस्सा, उस व्यक्ति से निकाला जाता है जो बरामद किया गया था. फिर निकालने को एक कोविड रोगी में इंजेक्ट किया जाता है.

प्लाज्मा दाता और प्राप्तकर्ता दोनों रजिस्टर कर सकते हैं, यहां बताया गया है:

चरण 1: दिल्ली पुलिस की आधिकारिक वेबसाइट– delhipolice.nic.in पर जाएं

चरण 2: ‘प्लाज्मा बचाओ-दान दो’ पर क्लिक करें

चरण 3: यदि आप एक दाता हैं तो Google दस्तावेज़ खुल जाएगा, ‘मैं एक प्लाज्मा दाता हूं’ पर क्लिक करें. यदि आप एक प्लाज्मा प्राप्तकर्ता हैं, तो ‘मैं एक प्लाज्मा प्राप्तकर्ता (रोगी / देखभालकर्ता) हूं’ पर क्लिक करें

चरण 4: अपना विवरण जैसे नाम, लिंग, आयु, रक्त समूह, स्थान, संपर्क नंबर, वैवाहिक स्थिति भरें. यदि आप प्राप्तकर्ता हैं, तो अस्पताल की रोगी आईडी, अस्पताल का स्थान आदि दर्ज करें

यह डेटा दिल्ली पुलिस की समर्पित टीम द्वारा बनाए रखा जाएगा, जो प्राप्त किए गए अनुरोधों और दाता की उपलब्धता पर रखेगा.

इस बीच, दिल्ली में अब तक 93,080 मामले और 13,898 मौतें हुई हैं. कुल 8,97, 804 लोग घातक वायरस से उबर चुके हैं.

Pakistan offer Help to India : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को वेंटिलेटर समेत अन्य राहत सामग्रियां उपलब्ध कराने की पेशकश की

West Bengal Corona Update : कोलकता में फूटा कोरोना बम, हर दो व्यक्ति में से एक व्यक्ति निकल रहा कोरोना पॅाजिटिव

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर