नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के नरेला इलाके में ढाई महीने पहले एक 14 साल कि नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उसकी हत्या करने के आरोप में 32 साल के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार आरोपी की पहचान सुनील के रूप में की गई है और वह यूपी के हरदोई जिले का रहने वाला है। पुलिस ने बताया कि इस मामले में नरेला के एक गांव की रहने वाली बच्ची के पिता की शिकायत पर 15 फरवरी को अपहरण का मामला दर्ज किया गया था।

उसके पिता के मुताबिक, 19 फरवरी को उनके गाँव के एक दुकानदार राहुल राय नामक शख्स ने पुलिस को बताया कि वह झांसी गया था और वापस आकर जब उसने अपनी दुकान खोली तो उसके अंदर से बदबू आ रही थी। राहुल ने पुलिस को बताया कि उसके साथ काम करने वाला सुनील नाम का एक मजदूर भी लापता है।

पुलिस ने बताया कि उस दुकान में छानबीन करने के बाद, लड़की का शव बुरी अवस्था में गाय के गोबर से बने उपलों से भरी बोरियों के ढेर के नीचे मिला। जांच के दौरान, राम सच्चे ऊर्फ सचिन नामक व्यक्ति को 20 फरवरी को गिरफ्तार किया गया, वह मुंबई भागने की फिराक में था। पुलिस ने बताया कि पूछताछ में आरोपी ने बताया कि सुनील के साथ उसने 12 फरवरी को मेट्रो विहार में शराब पी और लड़की को बुलाने की योजना बनाई। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने लड़की को फोन कर बुलाया और फिर उसके साथ मिलकर बलात्कार किया तथा गला घोंट कर उसकी हत्या कर दी।

DCP बृजेंद्र कुमार यादव ने बताया कि बाद में पुलिस को सूचना मिली कि सुनील किसी से मिलने आएगा जिसके बाद पुलिस ने मंगलवार को आरोपी को देख पुलिस ने उसे रुकने को कहा, लेकिन वह भागने लगा। डीसीपी ने कहा कि पुलिस ने उसे सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन आरोपी ने पिस्तौल निकालकर पुलिस पर फायरिंग दी।

DCP ने कहा कि पुलिस ने भी जवाब में गोली चलाई, एक गोली आरोपी के पैर में लगी, जिसके बाद उसे पकड़ लिया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने सच्चे के साथ मिलकर बलात्कार करने और हत्या की बात कबूल करा अपना आरोप स्वीकार कर लिया है.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर