नई दिल्ली. उत्तर भारत के दिल्ली, एनसीआर समेत आसपास के इलाकों में वायु प्रदुषण का स्तर जहरीला हो चुका है. हालात इतने खराब हैं कि इस स्तर पर इंसान अगर सांस ले तो भी वह मौत के मुंह में पहुंच सकता है. पिछले कुछ दिनों से खासतौर पर दिवाली के बाद से दिल्ली, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर, नोएडा, फरीदाबाद, गुरुग्राम समेत कई शहरों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स का लेवल गंभीर श्रेणी में बना हुआ है.

उत्तर भारत में फैल रहे इस वायु प्रदूषण की वजह खेत में जल रही पराली भी बताई जा रही है. सबसे अधिक पराली पंजाब और हरियाणा के किसान जला रहे हैं जिसका धुआं सीधा दिल्ली और आसपास के इलाकों पर आकर फैल रहा है. दिल्ली सरकार ने हालात को देखते हुए हेल्थ इमरजेंसी घोषित की है. AQI के मौजूदा स्तर पर घर से निकलना भी कम जानलेवा नहीं है. घर और बाहर इससे बचाव के लिए कुछ सेफ्टी टिप्स आप जरूर अपना सकते हैं.

घर के अंदर हैं तो ऐसे करें वायु प्रदुषण से बचाव

यह बहुत अजीब और खतरनाक बात है कि इस स्तर के वायु प्रदूषण आप अपने घर के अंदर भी सेफ नहीं है. ऐसे समय में हमेशा अपने घर की खिड़की और दरवाजों को बंद रखें. हालांकि, अगर बाहर स्तर काफी साफ दिखता है तो खिड़कियां खोलकर घर के अंदर मौजूद हवा में गुणवत्ता का मौका न छोड़ें.

अगर आप अत्यधिक प्रदूषित इलाके में रहते हैं तो नियमित रूप से कहीं स्वच्छ हवा के माहौल में जाने की कोशिश करें. आप शहर के पास स्थित किसी पार्क या बगीचे में जा सकते हैं और गहरी सांस लेने का व्यायाम कर सकते हैं. हालांकि, वहां की हवा प्रदुषित नहीं होनी चाहिए.

घर के अंदर गोल्डन पोथोस, पिस लिली, गुलदाउदी और इंग्लिश आइवी जैसे हवा शुद्ध करने वाले पौधों को लाकर सजावट के तौर पर लगा सकते हैं. ये सभी पौधे घर के अंदर बसे वायु प्रदूषण को कम करने में मददगार होंगे.

घर के बाहर हैं तो ऐसे करें वायु प्रदुषण से बचाव

सबसे पहली सलाह की घर बाहर कम से कम ही जाइए. जाना मजबूरी है तो वाहन कम से कम चलाएं. अच्छा मास्क पहनकर अगर ऑफिस पास है तो पैदल या साइकिल से चलें जाएं. अगर दूर है तो सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल आप कर सकते हैं. अगर ऑफिस में वर्क फ्रॉम सुविधा है तो घर से ही काम करें.

अगर आप नियमित रूप से सुबह उठकर जॉगिंग या एक्सरसाइज करते हैं तो अब रुक जाइए. बाहर कसरत करना भी आपके लिए जहरीला है क्योंकि जब आप कसरत करते हैं तो भारी सांस लेते हैं जिससे अधिक प्रदूषित कण सांस के जरिए शरीर में जाते हैं.

जो मास्क अपने लिए खरीदें वह अच्छा होना चाहिए. साधारण कागज और कपड़े का मास्क वायु प्रदूषण के हाई स्तर से बचाव नहीं कर सकता है. अगर स्मार्टफोन चलाते हैं तो प्रदुषण का स्तर बताने वाला एक एप जरूर डाउनलोड कर लें. उससे आप प्रदूषण को लेकर अपडेट रहकर अपना बचाव कर सकते हैं.

Delhi NCR Air Pollution Quality Down: दिल्ली-NCR की जहरीली हवा में सांस लेना फिर मुश्किल, 228 अंक के साथ खराब श्रेणी में पहुंचा राजधानी का एयर इंडेक्स

Punjab CM Letter to PM Modi On Pollution: दिल्ली के प्रदूषण पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, कहा- दिल्ली और आपकी सरकार समेत पूरे देश की गलती

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App