नई दिल्ली. दिल्ली एनसीआर में मेट्रो को लाइफलाइन माना जाता है. लेकिन बीते दिन हुई भारी बारिश ने इसकी रफ्तार रोक दी. देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को जमकर बारिश हुई. बारिश के कारण कई इलाकों में सड़कें पानी से लबालब दिखी. जिसकी वजह से सड़कों पर वाहनों की लंबी कतार लग गई. कई रास्तों पर वाहन रेंगते नजर आए. वहीं इस बारिश का असर दिल्ली मेट्रो पर भी देखने को मिला.

बारिश ने मजेंटा लाइन के रूट में मेट्रो की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया. दरअसल, मुनिरका के पास मजेंटा लाइन की सुरंग में छत से पानी गिरता रहा. सुरंग की दीवार में बड़ा सा छेद हो गया था जिससे बारिश का पानी गिरा. इस कारण करीब ढाई घंटे तक इस रूट पर मेट्रो का परिचालन बाधित रहा. डीएमआरसी के मुताबिक, जनकपुरी (वेस्ट) से बॉटेनिकल गार्डन के बीच मेट्रो की नई मजेंटा लाइन पर शाम सवा 4 बजे के करीब आर. के. पुरम और आईजीआई टर्मिनल-1 स्टेशनों के बीच तकनीकी दिक्कत आई.

इस सेक्शन पर मेट्रो को पावर सप्लाई करने वाले ओवरहेड इलेक्ट्रिफिकेशन सिस्टम में कोई खराबी आई गई थी, जिसके चलते मेट्रो को पावर नहीं मिल पा रही थी. इस वजह से ट्रेनें आगे नहीं बढ़ पा रही थीं. इसके चलते पूरे रूट पर ट्रेन ऑपरेशन ठप हो गया. डीएमआरसी के तकनीकी विशेषज्ञों की टीम को मौके पर भेजा गया, लेकिन जब यह पता चला कि इस खराबी को दूर करने में थोड़ा वक्त लगेगा, तो खराब हुए सेक्शन के दोनों ओर मेट्रो को सिंगल लाइन पर दौड़ानी पड़ी, जिसके चलते ट्रेन सर्विस डिले हुई.

इसके तहत एक तरफ बॉटेनिकल गार्डन से आर. के. पुरम तक और दूसरी तरफ आईजीआई टर्मिनल-1 से जनकपुरी (वेस्ट) के बीच मेट्रो चलाई गई. हालांकि इस दौरान ट्रेनें लेट चलने की वजह से स्टेशनों पर यात्रियों को काफी इंतजार करना पड़ रहा था और ट्रेनों में भीड़ भी बढ़ती जा रही थी. शाम 7 बजे के बाद इस मेट्रो रूट पर हालात सामान्य हुए.

दिल्ली मेट्रो कर्मचारियों की 30 जून की हड़ताल पर हाईकोर्ट की रोक, 6 सितंबर को अगली सुनवाई, केजरीवाल बोले- जायज मांगें पूरी हों

दिल्लीः मजेंटा लाइन के शंकर विहार मेट्रो स्टेशन से बिना आईडी कार्ड दिखाए नहीं कर सकेंगे एग्जिट, जानिए क्यों

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App