नई दिल्ली: अनलॉक-4 के तहत 7 सितंबर से मेट्रो सेवाएं शुरू हो रही हैं. केंद्र सरकार ने मेट्रो चलाने की मंजूरी दे दी है लेकिन मेट्रो में आप पहले जैसे सवारी करते थे वैसे अब नहीं कर पाएंगे. कोरोना के चलते मेट्रो के सफर में बहुत सारे बदलाव किए गए हैं साथ ही साथ मेट्रो से चलने के कुछ नियम भी बनाए गए हैं जिनका आपको पालन करना होगा. मेट्रो प्रशासन यात्रियों की सुरक्षा के लिए हर तरह से इंतजाम कर रहा है.

मेट्रो का परिचालन चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा और फिर धीरे-धीरे सभी लाइनों को खोला जाएगा. मेट्रो सेवाएं शुरू करने को लेकर विस्तृत एसओपी और गाइडलाइन जारी की गई हैं. मेट्रो में सफर करने वाले हर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी, इस दौरान सामान्य तापमान वाले यात्री को ही सफर की इजाजत दी जाएगी. इस दौरान किसी यात्री में कोरोना के लक्षण नजर आते हैं तो उसे सीधा कोविड केयर सेंटर भेजा जाएगा.

मेट्रो में पहले मेट्रो कार्ड और टोकन दोनों तरीकों से यात्रा की जा सकती थी लेकिन अब सिर्फ और सिर्फ स्मार्ट कार्ड से ही सफर किया जा सकेगा. यानी आपको टोकन नहीं मिलेगा. इसके अलावा कैशलैस तरीके से ही मेट्रो कार्ड रीचार्ज होगा. मेट्रो में प्रवेश से पहले आपका आरोग्य सेतू ऐप स्टेटस चेक किया जाएगा. मेट्रो स्टेशनों पर अनाउंसमेंट होती रहेगी और लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की अपील की जाएगी. इसके अलावा यात्रियों को कम से कम सामान लेकर चलने की सलाह दी जाएगी. दिल्ली के जो इलाके कंटोनमेंट जोन में आते हैं वहां मेट्रो स्टेशन नहीं खुलेंगे. इसके अलावा मेट्रो के एंट्री प्वाइंट पर सेनेटाइजर रखा जाएगा और यात्रियों को हाथ सेनेटाइज करके ही मेट्रो में प्रवेश करने दिया जाएगा.

Unlock 4.0 Guidelines: अनलॉक-4 की गाइंडलाइंस जारी, मेट्रो चलाने को मंजूरी, स्कूल कॉलेज रहेंगे बंद

Railway Special Trains Update: दशहरा, दिवाली और छठ पूजा को देखते हुए ट्रेनों की संख्या बढ़ाने पर विचार कर रहा है रेलवे, राज्यों से विमर्श जारी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर