नई दिल्ली: जिंदा नवजात को मृत बताने के मामले में दिल्ली सरकार ने शालीमार बाग स्थित मैक्स हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द कर दिया है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि नवजात बच्चों के साथ लापरवाही सामने आने के बाद सरकार ने मैक्स हॉस्पिटल, शालीमार बाग का लाइसेेंस रद्द कर दिया है. बता दें कि दिल्ली के शालीमार बाग स्थित मैक्स हॉस्पिटल में एक महिला ने जुड़वा बच्चों (एक लड़का और एक लड़की) को जन्म दिया था. परिजनों के अनुसार, डिलीवरी के समय बच्ची की मौत हो गई थी. डॉक्टरों ने दूसरे नवजात की हालत भी नाजुक बताई.

डॉक्टरों ने एक घंटे बाद डॉक्टरों ने दूसरे बच्चे को भी मृत घोषित कर दिया. अस्पताल ने दोनों बच्चों की डेड बॉडी को प्लास्टिक के बैग में लपेटकर परिजनों को सौंप दिया. परिजन बच्चों के शवों को लेकर घर लौट रहे थे कि रास्ते में ही उसमें हलचल देखने को मिली. जिसके बाद पैकेट खोला गया तो उसमें एक बच्चे की सांसे चल रही थीं. जिसके बाद परिवार वालों ने बच्चे को तुरंत नजदीकी के अस्पताल में भर्ती कराया था. परिवार वालों ने मैक्स हॉस्पिटल की इस करतूत की शिकायत पुलिस में की है.

इससे पहले चार दिसंबर को इस मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर घटना वाले दिन डॉक्टरों की ड्यूटी चार्ट के साथ-साथ पूरे स्टॉफ की जानकारी मांगी थी. दिल्ली पुलिस के एक्शन के एक दिन बाद अस्पताल प्रबंधन ने चार डॉक्टरों को सस्पेंड कर दिया था.

डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश में मैक्स अस्पताल, नवजात बच्चे को मृत बताने वाले दोनों डॉक्टरों को किया सस्पेंड 

जिंदा बच्चे को मृत बताने वाले डॉक्टरों को मैक्स हॉस्पिटल ने नौकरी से निकाला

मैक्स अस्पताल, शालीमार बाग का लाइसेंस दिल्ली सरकार द्वारा निरस्त किये जाने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बयान:

Posted by Aam Aadmi Party on Friday, 8 December 2017

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर