नई दिल्ली. कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के बाद दिल्ली के स्कूल्स में कामकाज शुरू हो गया है। अब दिल्ली के सरकारी विद्यालय सभी कक्षाओं के लिए 19 से 31 जुलाई के बीच अभिभावक-शिक्षक बैठक (पीटीएम) का आयोजन करेंगे। इस बैठक की खास बात है कि इसमें अभिभावकों को स्वयं मौजूदगी दर्ज करानी होगी। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को इसकी घोषणा की।

सिसोदिया ने ऑनलाइन प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि , हमने अभिभावक-शिक्षक बैठक में अभिभावकों से स्वयं उपस्थित रहने के लिए कहने का निर्णय लिया है। यह बैठक 19 जुलाई से 31 जुलाई के बीच आयोजित होगी और वहां उन्हें विद्यार्थियों की प्रगति, उनकी जरूरतों और चुनातियों तथा वे इस नई परिस्थिति में कैसे बेहतर तरीके से सीख सकते हैं, इसके बारे में बताया जएगा।’’ उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बैठक का आयोजन कोविड-19 संबंधी सभी नियमों का पालन कर दो सप्ताह में किया जाएगा ताकि बैठक में भीड़भाड़ न हो।

उन्होंने कहा कि, ‘‘दिल्ली में पिछले साल मार्च से ही विद्यालय बंद हैं। इस साल की शुरुआत में कुछ समय के लिए विद्यालय खुले थे लेकिन महामारी की वजह से उन्हें फिर बंद करना पड़ा और फ़िलहाल अभी विद्यालयों के खुलने की कोई संभावना नहीं है। हालांकि, सत्र के अनुसार ऑनलाइन कक्षाएं चल रही हैं।’’

Inflation in July: आज से आपकी जेब पर पड़ेगा डाका, अमूल दूध महंगा, बैंकिंग चार्ज भी बढ़ा, जानें और क्या-क्या चीजें डालेंगी आपके बजट पर असर

Rahul Bajaj on Jobs: दोबारा लॉकडाउन लगा तो बिजनेस, रोजगार और इकॉनमी को होगा नुकसान- राहुल बजाज

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर