नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण के मामले में राजधानी दिल्ली की हालत चिंताजनक बनी हुई है. 1 नवंबर से 16 नवंबर के बीच राजधानी दिल्ली में कोरोना के एक लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं जबकि 1200 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि इस दौरान करीब 94 हजार लोग कोविड से रिकवर भी हुए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक 28 अक्टूबर से दिल्ली में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. 12 नवंबर को दिल्ली में 104 लोगों की मौत हुई जो पांच महीने का सबसे बड़ा आंकड़ा है. दिल्ली में हर रोज कोरोना के 20 हजार टेस्ट करने का लक्ष्य रखा गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट कहती है कि 16 दिनों में 1,01,070 मामले दर्ज किए गए हैं वहीं 17 दिनों में 1202 लोगों की मौत हुई है. सरकार लगातार लोगों से सतर्कता बरतने की अपील कर रही है. दिल्ली और केंद्र सरकार दोनों ही कोरोना की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं और अपनी तरफ से पूरी तैयारी ली है. देशभर की बात करें तो स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक अबतक देश में 82 लाख 90 हजार केस दर्ज हो चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये भी बताया है कि कोरोना संक्रमण की दर 7 फीसदी है और ये पिछले हफ्ते घटकर 4 फीसदी तक पहुंच गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में प्रति दस लाख आबादी पर कोरोना के सिर्फ 211 केस हैं जो काफी बेहतर है. वहीं यूरोप से भारत की तुलना की जाए तो यूरोपीय देशों में प्रति दस लाख की आबादी पर कोरोना केस लगभग 6 हजार हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा एक्टिव मरीज हैं. महाराष्ट्र में 19 और केरल में 16 फीसदी कोरोना के केस हैं.

Delhi Corona Update: दिल्ली में हर चार घंटे में कोरोना से एक शख्स की मौत, रविवार को 104 लोगों की जिंदगी लील गया कोविड-19

Delhi Corona Update: दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर, चार महीने बाद पहली बार एक दिन में कोरोना से 66 लोगों की मौत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर