नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्‍ली में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों ने राज्य सरकार की चिंता बढ़ा दी है. इस बात पर चर्चा शुरू हो गई है कि क्या दिल्ली में कोरोना स्टेज 3 में प्रवेश कर चुका है यानि क्या देश की राजधानी में कम्‍यूनिटी स्‍प्रेड के स्तर पर लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं क्योंकि हालात इसी बात का इशारा कर रहे हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक कई मामले ऐसे हैं जहां लोग कोरोना संक्रमित कैसे हुए उस सोर्स का पता ही नहीं चला. दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच मंगलवार को उपराज्‍यपाल अनिल बैजल और उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया के बीच अहम बैठक हुई. चर्चा के बाद पत्रकारों से बात करते हुए डिप्‍टी सीएम ने कहा कि केंद्र के अनुसार दिल्‍ली में फिलहाल कम्‍यूनिटी स्‍प्रेड जैसे हालात नहीं बने हैं.

उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ आपदा प्राधिकरण की बैठक में शामिल होने के बाद मनीष सिसोदि ने बताया कि राजधानी में कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट के बारे में बैठक में विस्तार से चर्चा की गई. उन्होंने ये भी बताया कि दिल्ली सरकार का आकलन है कि दिल्ली में 12 से 13 दिन में कोरोना के केस दोगुने तक बढ़ रहे हैं. दिल्ली सरकार के मुताबिक 15 जून तक राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के 44000 मामले होने की आशंका है, ऐसे में दिल्ली के अस्पतालों में मरीजों के लिए इलाज के लिए 6000 बेड की जरूरत होगी. वहीं 30 जून तक दिल्ली में 1 लाख कोरोना केस हो जाएंगे और तब 15 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी. सिसोदिया ने बताया कि 15 जुलाई तक सवा 2 लाख से ज्यादा केस के लिए 33 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी. वहीं 31 जुलाई तक साढ़े 5 लाख केस होंगे जिसके लिए 80 हजार बेड की जरूरत होगी.

डिप्टी सीएम सिसोदिया ने पत्रकारों से कहा कि कल से दिल्ली के अस्पतालों में दिल्लीवालों का इलाज हो रहा था लेकिन एलजी ने दिल्ली सरकार का आदेश पलट दिया. उन्होंने कहा कि एलजी के आदेश से अब दिल्लीवालों के सामने गंभीर समस्या खड़ी हो गई है. उन्होंने कहा कि जब हमने एलजी से बैठक में इस बारे में पूछा तो उनके पास कोई जवाब नहीं था. मनीष सिसोदिया ने सवाल उठाया कि कल जब अस्पतालों में बेड भर जाएंगे तो फिर और लोगों के लिए इंतजाम कहां से होगा. दिल्ली में कम्युनिटी स्प्रेड को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा कि इस मामले पर केंद्र सरकार के अधिकारियों ने अभी तक कुछ नहीं कहा है.

LG Anil Baijal overrules AAP Order: राज्यपाल ने पलटा दिल्ली के अस्पतालों में दिल्ली वालों के इलाज का फैसला, आप और केंद्र सरकार के बीच फिर हो सकती है तकरार

Private Hospital Loot in Corona Time: कहीं थर्मल स्क्रीनिंग के बदले 100 रूपये तो कहीं 52 हजार की पीपीई किट, कोरोना काल में जनता को कैसे लूट रहे हैं प्राइवेट अस्पताल?