नई दिल्ली: राजधानी में कोरोना का विस्फोट हो चुका है और हालात लगातार बिगड़ते ही जा रहे हैं. आलम है ये है कि नवंबर में हर चार घंटों में राजधानी दिल्ली में कोरोना से एक शख्स की जान जा रही है. रविवार को दिल्ली में कोरोना के चलते 95 लोगों की मौत हुई. ये एक दिन में कोरोना से होने वाली मौत का तीसरा बड़ा आंकड़ा है. नवंबर अभी आधा ही बीता है लेकिन कोरोना के चलते अबतक 1103 लोगों की जान जा चुकी है. औसत लगाया जाए तो पिछले 15 दिनों में राजधानी में औसतन 73.5 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. गुरूवार को दिल्ली में कोरोना से रिकार्ड 104 लोगों की मौत हुई वहीं शनिवार को भी 96 लोगों ने कोरोना के चलते जान गंवाई. राजधानी दिल्ली में कोरोना से अबतक 7614 लोगों की मौत हो चुकी है. राजधानी में कोरोना से मौत का मृत्यु दर 1.5 फीसदी है.

दिल्ली के अलावा केंद्र सरकार भी दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए एक्शन में आ गई है. केंद्र ने एलान किया है कि वो जल्द ही राजधानी में 300 आईसीयू बेड उपलब्ध कराएगा. इसके अलावा कोविड जांच भी दोगुनी की जाएगी. इसके अलावा गृहमंत्री ने कहा है कि दिल्ली एमसीडी के कुछ अस्पतालों को पूरी तरह कोविड अस्पताल में परिवर्तित कर दिया जाएगा. डॉक्टरों की कमी होने पर अर्धसैनिक बलों के डॉक्टर और पैरामैडिकल कर्मियों की भी तैनाती की जाएगी. इसके अलावा दिल्ले में ऑक्सीजन और हाई फ्लो नोजल कैनुला और अन्य स्वास्थ्य उपरकरण भी मुहैया करवाए जाएंगे.

जानकारी के मुताबिक धौला कुआं स्थित डीआरडीओ के कोविड अस्पताल में 250 से 300 आईसीयू बिस्तर उपलब्ध कराये जाएंगे जिससे गम्भीर कोविड रोगियों को इलाज मिल सके. इसके अलावा ऑक्‍सीजन की सुविधा वाले बिस्तरों की उपलब्धता बढ़ाने के उद्देश्‍य से छतरपुर के 10,000 बिस्तर वाले कोविड सेंटर को और सशक्त किया जाएगा.

Joe Biden New US President: डोनाल्ड ट्रंप को हराकर डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन बने अमेरिका के अगले राष्ट्रपति

ITR Filling Dedline 31 December: सरकार ने आयकर रिटर्न भरने की समय सीमा को और बढ़ाया, अब 31 दिसंबर कर भर सकेंगे ITR

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर