नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के लगातार बढ़ते आंकड़ों के बीच चौंकाने वाली बात सामने आई है. दिल्ली सरकारी द्वारा जारी ताजा हेल्थ बुलेटिन में बताया गया कि कोविड-19 से अबतक दिल्ली में 984 लोगों की मौत हुई है लेकिन एमसीडी की आंकड़े कुछ और ही कहते हैं. एमसीडी के मुताबिक कोरोना से दिल्ली में अबतक 2098 लोगों की मौत हो चुकी है.

कौन सच बोल रहा है कौन झूठ? किसके आंकड़ों को सच माना जाए किसको झूठ इस बारे में संशय बरकार है. सूत्रों के मुताबिक दिल्ली की तीनों एमसीडी का कहना है कि दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में बने शमशान घाट और कब्रिस्तान में अबतक 2098 लोगों का अंतिम संस्कार किया है जिनकी मौत कोरोना से हुई थी. वहीं दिल्ली सरकार का ताजा हेल्थ बुलेटिन कह रहा है कि अबतक सिर्फ 984 लोगों ने ही कोरोना के चलते जान गंवाई है.

कोरोना के चरण को लेकर भी दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच विवाद है. दिल्ली सरकार दबे मुंह कह रही है कि राजधानी में कोरोना स्टेज 3 में प्रवेश कर गया है और अब राजधानी में कोरोना का कम्यूनिटी स्प्रेड हो रहा है. इसके पीछे तर्क ये दिया जा रहा है कि कोरोना के कई मामले ऐसे सामने आए हैं जिसमें पता ही नहीं कि मरीज कहां से संक्रमित हुआ है लेकिन केंद्र सरकार मानने को तैयार ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना का कम्यूनिटी स्प्रेड हो रहा है. फिलहाल कोरोना से दिल्ली में हुई मौत के आंकड़ों में दोगुने अंतर ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है. फिलहाल इस मामले पर दिल्ली सरकार या नगर निगम की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.

Fake News Alert: सरकार 15 जून से देश में लगाने वाली है संपूर्ण लॉकडाउन? यहां पढ़िए क्या है खबर की सच्चाई

Corona Delhi School Open: दिल्ली में फिलहाल नहीं नहीं खुलेंगे स्कूल, मनीष सिसोदिया बोले- स्कूलों को खोलकर फिर से बंद नहीं कर सकते