नई दिल्ली: राजधानी में कोरोना का विस्फोट हो चुका है. दिल्ली के अस्पतालों में लगभग 90 प्रतिशत आईसीयू बेड भर चुके हैं. कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन के हाथ-पांव फूलने शुरू हो गए हैं. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा है कि जल्द ही केंद्र सरकार दिल्ली को आईसीयू सुविधाओं के साथ 250 बिस्तरों वाले बेड देने वाला है. केंद्र सरकार दिल्ली को कुल 750 आईसीयू सुविधाओं वाले बेड देने की हामी भरी है. दिल्ली में फिलहाल 26 हजार लोग होम आइसोलेशन में है वहीं कोरोना मरीजों के लिए दिल्ली में 16 हजार बेड हैं.

दिल्ली में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी में एक बार फिर लॉकडाउन लगाने की उठ रही मांग के बीच दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगेगा. मनीष सिसोदिया ने सभी दुकानदारों को भरोसा दिलाया है कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगेगा. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि आपकी दुकानें खुली रहेंगी. उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो कुछ बाजारों को सील किया जा सकता है जिसके लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन लगाना कोरोना से लड़ने का उपाय नहीं है. मनीष सिसोदिया ने कहा कि राजधानी में 26 हजार लोग होम आइसोलेशन में हैं और दिल्ली सरकार के पास 16 हजार बेड हैं जिनमें से 50 फीसदी बेड खाली हैं.

मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के 90 फीसदी कोविड-19 बेड भर चुके हैं जिसके बाद सरकार को चिंता हुई जिसके बारे में केंद्र सरकार से बात की गई और केंद्र सरकार ने दिल्ली को 750 आईसीयू बेड देने की बात की है. उन्होंने कहा कि जैसे ही आईसीयू बेड मिल जाएंगे उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं होगी. डिप्टी सीएम ने भरोसा जताया है कि कोरोना से लड़ने के लिए सरकार पूरी तरह मुस्तैद है.

Delhi Covid-19 update: दिल्ली में कोरोना विस्फोट, 16 दिनों में 1 लाख से ज्यादा केस और 1200 से ज्यादा लोगों की मौत

Delhi Corona Update: दिल्ली में हर चार घंटे में कोरोना से एक शख्स की मौत, रविवार को 104 लोगों की जिंदगी लील गया कोविड-19

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर