नई दिल्ली. दिवाली का त्योहार बीतने के 24 घंटे के बाद दिल्ली और एनसीआर की वातावरण रहने लायक नहीं रह गया है. दिल्ली और एनसीआर में वायु प्रदूषण में 300 से फीसद की बढ़ोतरी कल रात हुई थी. दिवाली की रात में दिल्ली के आरके पुरम इलाके में पीएम 10 और पीएम 2.5 की मात्रा 999 के अपने सबसे उचत्तम स्तर पर पहुंच गया था. एयर कवॉलिटी इंडेक्स मापने वानी मशीन के पास 999 स्तर पर पहुंचने के बाद मापने की क्षमता नहीं है. दिल्ली की वायु प्रदूषण को इस स्तर पर पहुंचाने में दिल्ली के लोगों के योगदान को नहीं भुलाया जा सकता है. देश के सर्वोच्य न्यायलय सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लोगों दरकिनार करके दिवाली के रात में खूब पटाखे फोड़े. इसके कारण ही दिल्ली के वायु में प्रदूषण खतरनाक से भी बदतर स्तर पर पहुंच गई.

आज शाम 8 बजे दर्ज की गई दिल्ली और एनसीआर की एयर क्वॉलिटी इंडेक्स – दिल्ली ओखला- 334, आईटीआई जहांगीर 443, संजय नगर गाजियाबाद- 339, नोएडा सेक्टर 62- 421, नोएडा सेक्टर 125- 834, बवाना दिल्ली- 421, आनंद विहार – 363, पीजीडीएवी कॉलेज- 379 रहा. दिल्ली की वायु में प्रदूषण की इस स्तर को खतरनाक की श्रेणी में रखा जाता है. इस स्थिति में यहां रहने पर एक व्यक्ति एक दिन 20 सिगरेट पीने के बराबर प्रदूषित हवा ग्रहण कर रहे हैं.

एक्यूआई सुबह 11:30 बजे 463 था. पूसा, लोधी रोड, एयरपोर्ट टर्मिनल टी3, नोएडा, मथुरा रोड, आईआईटी दिल्ली, धीरपुर, और चांदनी चौक में एक्यूआई 480, 436, 460, 668, 413, 483, 553 और 466 था. हालांकि, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली का एक्यूआई सोमवार को सुबह 11.30 बजे 348 पर था. रविवार शाम 4 बजे यह 337 था. कहा गया है कि हवा की गति में तेजी प्रदूषकों को फैलाने में मदद करेगी और प्रदूषण के स्तर में शाम तक कमी आने की उम्मीद है.

Also Read, ये भी पढ़े- Delhi NCR Air Quality Index Diwali AQI: दिल्ली एनसीआर में दिवाली पर प्रदूषण इस सीजन के सबसे खतरनाक स्तर पर, एक्यूआई 326 तक पहुंचने का आसार

Supreme Court Delhi Diwali Crackers Ban: सुप्रीम कोर्ट दिवाली गाइडलाइंस, दिल्ली में सरकारी स्टांप QR कोड वाले अनार, फूलझड़ी के अलावा शोर मचाने वाले बम-पटाखे बैन

आज सुबह में सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, गाजियाबाद (378), ग्रेटर नोएडा (364), गुड़गांव (359) और नोएडा (375) के शहरों ने अपने एक्यू को बहुत ही खराब श्रेणी में दर्ज किया. हरियाणा में अंबाला, हिसार और कुरुक्षेत्र ने ये 370, 380 और 377 रहा. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद, मेरठ में, यह 414, 393 और 330 था. पंजाब के पटियाला, लुधियाना, जालंधर और खन्ना में 334, 314, 321 और 301 पर रहा. कल रात, लोगों ने मालवीय नगर, लाजपत नगर, कैलाश हिल्स, बरारी, जंगपुरा, शाहदरा, लक्ष्मी नगर, मयूर विहार, सरिता विहार, हरि नगर, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, हौज़ खास, गौतम नगर, द्वारका अन्य स्थानों में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दो घंटे की खिड़की के उल्लंघन की सूचना दी. नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गुड़गांव, गाजियाबाद और फरीदाबाद के निवासियों ने भी समय सीमा से परे व्यापक आतिशबाजी की सूचना दी गई.

 

Also Read, ये भी पढ़े- What is Green Crackers: क्या है ग्रीन पटाखा जो इको फ्रेंडली होता है और दिवाली पर कम वायु प्रदूषण फैलाता है

Delhi Air Quality Index to Severe: दिल्ली-एनसीआर की दिवाली ने वातावरण का निकाला दिवाला, सुप्रीम कोर्ट के आदेश ताक पर रखकर खूब छुटे पटाखे, वायू प्रदूषण खतरनाक स्तर पर, हवा हुई जहरीली

How To Celebrate Eco Friendly Green Diwali: दिवाली पर प्रदूषण के पाप के भागी न बनें, इन 10 उपायों से अपनी दीपावली को बनाएं ग्रीन, इको फ्रेंडली और पॉल्युशन फ्री

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर