हैदराबाद: तेलंगाना पुलिस में डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (डीसीपी) ए.आर. उमामहेश्वरा शर्मा लगभग 30 वर्षों से नौकरी कर रहे हैं लेकिन रविवार का दिन उनके लिए बेहद खास था. रविवार को राज्य की सत्ताधारी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) का एक कार्यक्रम था. डीसीपी शर्मा मौका-मुआयना कर रहे थे कि तभी वहां सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (एसपी) सिंधू शर्मा पहुंचती हैं और डीसीपी उन्हें पूरे जोश के साथ सैल्यूट करते हैं. एसपी सिंधू शर्मा को सलाम करना उनके लिए बेहद गर्व का मौका था. दरअसल एसपी सिंधू शर्मा कोई और नहीं बल्कि डीसीपी उमामहेश्वरा शर्मा की ही बेटी हैं.

हैदराबाद के कोंगरा कलां में रविवार को टीआरएस की जनसभा में ड्यूटी के दौरान पिता-पुत्री का पहली बार आमना-सामना हुआ. उप निरीक्षक पद से अपना पुलिस करियर शुरू करने वाले डीसीपी शर्मा कहते हैं, ‘हम लोग पहली बार ड्यूटी करते समय आमने-सामने आए थे. मैं भाग्यशाली हूं जो मुझे उनके (एसपी सिंधू शर्मा) साथ काम करने का मौका मिला.’

उमामहेश्वरा शर्मा ने आगे कहा, ‘सिंधू शर्मा मेरी वरिष्ठ अधिकारी हैं. जब भी मैं उन्हें देखता हूं, मैं सैल्यूट करता हूं. हम अपनी-अपनी ड्यूटी करते हैं. ड्यूटी के दौरान हम पारिवारिक जीवन से जुड़ी कोई चर्चा नहीं करते हैं लेकिन घर पर हम बिल्कुल पिता और बेटी की तरह रहते हैं.’ सिंधू शर्मा ने इस बारे में कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं. ये अच्छा मौका था कि हमें साथ काम करने का अवसर मिला.’

बताते चलें कि सिंधू शर्मा 2014 बैच की आईपीएस अफसर हैं. सिंधू वर्तमान में तेलंगाना के जगतियाल जिले में तैनात हैं. उनके पिता उमामहेश्वरा शर्मा हैदराबाद में राशाकोंडा के मलकानगिरी क्षेत्र में पुलिस उपायुक्त हैं. अगले साल डीसीपी शर्मा सेवानिवृत्त हो रहे हैं.

उत्तराखंडः मर्डर करा नहीं दिए सुपारी के पैसे तो बीजेपी नेता की कोर्ट परिसर में गोली मारकर की हत्या

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App