पश्चिम बंगाल. बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान यास से भारी तबाही मची है। तूफान ने बुधवार को ओडिशा-पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती इलाकों में जमकर तबाही मचाई। अब इस तूफान का असर कई राज्यों में भी देखने को मिलेगा। आईएमडी के वैज्ञानिक राजेंद्र कुमार जेनामनी ने बताया कि गुरुवार रात और शुक्रवार को बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में बारिश होगी। गुरुवार और शुक्रवार के लिए झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए रेड अलर्ट की चेतावनी जारी की गई है। तूफान का प्रभाव अभी 36 घंटे रहेगा।

सबसे ज्यादा असर ओडिशा में

तूफान का सबसे ज्यादा असर ओडिशा में दिखाई दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने चक्रवात प्रभावित जिलों के करीब 128 बाढ़ प्रभावित गांवों के परिवारों के लिए 7 दिन की राहत की घोषणा की है। साथ ही कहा कि जिले में 80 प्रतिशत आपूर्ति अगले 24 घंटे के दौरान बहाल कर दी जाएगी।

झारखंड में बाढ़ से हालात

चक्रवात यास पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बाद झारखंड पहुंच गया है। पश्चिमी सिंहभूम के जिला कलेक्टर ने बताया कि चक्रवात के तांडव को देखते हुए 201 राहत शिविर बनाए गए हैं। 596 लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है। चक्रवात यास की वजह से रांची में हो रही भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। वहीं यूपी के कई जिलों में बारिश हो रही है।

Check Oxygen Level : अब मोबाइल की टॉर्च से जांच सकेंगे ऑक्सीजन लेवल, नहीं होगी ऑक्सीमीटर की जरूरत

Whatsapp New guidelines : व्हाट्सऐप ने भारत सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट में लगाई गुहार, कहा- नए कानून से निजता का होगा उल्लंघन