अहमदाबाद. महा चक्रवाती तूफान गुजरात के समुद्री तट से टकराने से पहले ही कमजोर पड़ गया है. मौसम विभाग के ताजा अपडेट के मुताबिक बुधवार को अरब सागर में विक्षोभ बनने के कारण महा चक्रवात कमजोर पड़ता दिखाई दे रहा है. बुधवार रात तक महा चक्रवात गुजरात के पोरबंदर तट से करीब 250 किलोमीटर की दूरी पर था. हालांकि फिर भी मौसम विभाग ने गुजरात और महाराष्ट्र के कई तटीय जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है. इन इलाकों में धूल भरी आंधी के साथ बारिश की संभावना जताई जा रही है.

मौसम विभाग के मुताबिक महा चक्रवात पोरबंदर से 250 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम, वेरावल से 250 किलोमीटर पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम और दीव से 290 किलोमीटर पश्चिम, दक्षिण-पश्चिम की ओर है. सुबह तक विक्षोभ के कारण यह और कमजोर होगा. हालांकि तटीय इलाकों में मछुआरों को शुक्रवार तक अरब सागर में नहीं उतरने की अपील की है.

इससे पहले महा चक्रवात के अलर्ट को देखते हुए गुजरात के विभिन्न जिलों में एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई है. खुद प्रधानमंत्री ने मंगलवार को बैठक कर तूफान से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया था.

महाराष्ट्र के इन जिलों में बारिश की संभावना-
महा चक्रवात को देखते हुए महाराष्ट्र के पालघर, ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदूर्ग, नासिक, पुणे, कोल्हापुर, सातारा, सांगली जिलों को येलो वॉच में रखा गया है. इन इलाकों में तेज बारिश हो सकती है. महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में 40 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की संभावना भी जताई जा रही है.

बंगाल की खाड़ी में बुलबुल की आहट-
दूसरी तरफ बंगाल की खाड़ी में बुलबुल चक्रवात उठता दिखाई दे रहा है. मौसम विभाग ने उड़ीसा में बुलबुल चक्रवाती तूफान का अलर्ट जारी किया है. इस चक्रवात के 9 नवंबर को उड़ीसा और पश्चिम बंगाल के तटों से टकराने की संभावना जताई जा रही है.

हालांकि उड़ीसा के स्पेशल रिलीफ कमिश्नर प्रदीप कुमार जेना ने कहा है कि बुलबुल तूफान उड़ीसा से नहीं टकराएगा. हालांकि उत्तरी उड़ीसा में 9 नवंबर के बाद हल्की और मध्यम बारिश होने की संभावना है. बुलबुल चक्रवाती तूफान उड़ीसा को छूते हुए पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश की तरफ चला जाएगा.

Also Read ये भी पढ़ें-

जापान के टोक्यो में आया शक्तिशाली तूफान हगिबीस, भारी बारिश और भूस्खलन से 2 की मौत, 70 लोग घायल

जापान के टोक्यो में हगिबीस तूफान ने मचाई तबाही, 26 की मौत, 100 से ज्यादा घायल, पीएम नरेंद्र मोदी ने जताया दुख

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App