नई दिल्ली. चक्रवात तुफान ‘बुलबुल’ के कुछ ही समय में बंगाल के तट पर टकराने का अनुमान है. इस बीच प.बंगाल में में भारी बारिश और तेज हवाओं का चलना शुरू हो गया है. ‘बुलबुल’ तुफान के शनिवार रात 11 बजे तक प. बंगाल के सागर द्वीप और पड़ोसी मुल्क बंग्लादेश के खेपूपारा से टकराने की संभावना है. मौसम विभाग के अधिकारिक बयान के अनुसार पश्चिम बंगाल के तट से टकराने के बाद चक्रवाती तुफान कमजोर पड़ सकता है. हालांकि इस दौरान 135 किमी के रफ्तार से पूरे राज्य में हवाएं चलेंगी. वहीं प. बंगाल और पड़ोसी राज्य ओडिशा में लगातार बारिश होने से दो लोगों की मौत हो गई

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि चक्रवात से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सभी सुरक्षा के उपाए कर लिए गए हैं. उन्होंने राज्य के नागरिकों से शांति बनाए रखने और नहीं घबराने की अपील की है. वहीं मुख्य सचिव असित त्रिपाठी ने लोगों से कहा है कि राज्य सरकार और अधिकारी तुफान की स्थिति पर नजर बनाएं हुए है और चक्रवात तुफान ‘बुलबुल’ से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर चुकी है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि चक्रवात से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सभी सुरक्षा के उपाए कर लिए गए हैं. उन्होंने राज्य के नागरिकों से शांति बनाए रखने और नहीं घबराने की अपील की है. वहीं मुख्य सचिव असित त्रिपाठी ने लोगों से कहा है कि राज्य सरकार और अधिकारी तुफान की स्थिति पर नजर बनाएं हुए है और चक्रवात तुफान ‘बुलबुल’ से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर चुकी है. वहीं ओडिसा डिजास्टर फोर्स की दल ने स्थानीय मछुआरों को साथ लेकर कालीभंजा द्वीप में फंसे 8 मछुआरों को बचा लिया है.

Also Read-  Bengal Odisha Cyclone Bulbul Latest Updates: गुजरात, महाराष्ट्र में साइक्लोन महा के बाद अब पश्चिम बंगाल, ओड़िशा पर चक्रवाती तूफान बुलबुल का साया, 8 या 9 नवंबर को हो सकता है लैंडफॉल

Air India Recruitment 2019: एयर इंडिया में निकली बंपर भर्ती, इन स्टेप्स से करें आवेदन www.airindia.in

Lal Krishna Advani On Ayodhya Ram Mandir Babri Verdict: अयोध्या राम मंदिर पर देशव्यापी आंदोलन चलाने वाले वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कहा- जिंदगी भर का सपना पूरा हुआ