नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच अफवाहों के शोर ने 600 लोगों की जान ले ली. जैसे भारत में कोरोना वायरस के शुरूआती चरण में खबर आई थी कि शराब पीने से कोरोना संक्रमण खत्म हो जाएगा वैसी ही कुछ अफवाह ईरान में फैली और वहां लोगों ने कोरोना से बचने के लिए जहरीली शराब पी जिससे 600 लोगों की मौत हो गई. ईरान में अब भी 3000 लोग ऐसे हैं जो जहरीली शराब पीकर गंभीर हालत में अस्पताल में पड़े हैं. मंगलवार को ईरान के प्रवक्ता घोलम हुसैन ने पत्रकारों को बताया कि कोरोना की दवा जानकर लोगों ने नीट शराब पी ली जिसके बाद बड़ी संख्या में लोग मरने लगे.

ईरान के प्रवक्ता इस्माइली ने बताया कि जहरीली शराब पीने से होने वाली मौतों का आंकड़ा और भी ज्यादा बढ़ सकता है. उन्होंने देश के बाकी लोगों से ऐसा ना करने की अपील करते हुए कहा कि शराब पीने से आप ठीक नहीं होंगे बल्कि वो शराब लोगों की जान ले सकता है. जहरीली शराब बेचने वालों के खिलाफ ईरान सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है. तस्निम न्यूज के मुताबिक कई लोगों को जहरीली शराब बनाने और बेचने के लिए गिरफ्तार किया गया है जिनपर आपराधिक गतिविधि की धाराओं के तहत मुकद्दमा चलाया जा रहा है.

गौरतलब है कि ईरान में कोरोना संक्रमण के 62 हजार से ज्यादा मामले हैं. हालांकि सरकार द्वारा जारी आंकड़ों पर सवाल उठाए जा रहे हैं. अंतराष्ट्रीय मीडिया का कहना है कि ईरान अपने देश में कोरोना संक्रमित लोगों और मृतकों की सही संख्या छुपा रहा है. ईरान की संसद तक भी कोरोना के असर से अछूती नहीं है. ईरान में कोरोना संक्रमित सांसदों की संख्या बढ़कर 31 हो गई है जिसके चलते ईरान की संसद को बंद कर दिया गया है. हालांकि मंगलवार को संसद की कार्रवाई दोबारा शुरू की गई है. दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के चलते 82000 लोगों की मौत हो चुकी है.

Corona Bank Loan Fraud: सावधान! बैक कर्मचारी बनकर फोन कर रहे हैं ठग, किश्त माफ करने का झांसा देकर मांग रहे हैं ओटीपी

Shab E Barat Mubarak 2020 Date: लॉकडाउन के बीच बुधवार को शब-ए-बारात, घर पर रहकर करें अपने मरहूम बुजुर्गों के लिए दुआ, ना निकलें घर से बाहर