नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने फैसला किया है कि जो भी दिल्ली एनसीआर से उत्ताखंड में आएगा उसका पहले कोरोना टेस्ट होगा और अगर वो पॉजीटिव मिलता है तो उसे वापस भेज दिया जाएगा. उत्तराखंड सरकार ने कहा कि दिल्ली और एनसीआर की तरफ से आने वाले सभी लोगों का देहरादून एयरपोर्ट, आईएसबीटी और रेलवे स्टेशन पर कोरोना टेस्ट होगा और अगर इस दौरान कोई पॉजीटिव मिला तो उसे वहीं से वापस भेज दिया जाएगा और उत्तारखंड में घुसने नहीं दिया जाएगा.

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड में लॉकडाउन नहीं लगेगा, हालांकि उन्होंने कहा कि भीड़भाड़ वाली कुछ जगहों पर कुछ घंटों की पाबंदी लगाई जा सकती है. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य पूरी तरह से कोरोना से निपटने के लिए तैयार है और राज्य की सीमाओं, एयरपोर्ट, रेलवे और बस स्टैंड पर कोरोना की जांच बढ़ा दी गई है. इस दौरान प्रशासन और पुलिस को खास हिदायद दी गई है कि किसी भी तरह की लापरवाही ना बरतें और दिल्ली-एनसीआर से आने वाले लोगों की जांच मुस्तैदी से करें ताकि राज्य में कोरोना के मामलों को नियंत्रित किया जा सके.

इसके अलावा प्रशासन को ये भी ताकीद की गई है कि जो लोग बिना मास्क के हों उनका चालान काटा जाए और उन्हें मास्क उपलब्ध कराया जाए. गौरतलब है कि केंद्र ने राज्यों को नाइट कर्फ्यू लगाने की इजाजत दी है लेकिन कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जगहों पर बिना इजाजत लॉकडाउन नहीं लगाया जा सकता है. देहरादून के जिलाअधिकारी के मुताबिक बाहर से आने वालों का निशुल्क कोरोना जांच हो रही है साथ ही पेड टेस्ट की भी सुविधा मौजूद है.

Coronavirus New Guidelines: कोरोना को लेकर केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को जारी की नई गाइडलाइंस, 1 द‍िसंबर से 31 दिसंबर तक रहेगी प्रभावी

Gurugram Corona Update: गुरुग्राम में शादी समारोह में जाकर चेक करेगी पुलिस, तय लोगों से ज्यादा होने पर कटेगा चालान