Thursday, December 8, 2022
गुजरात(182/182) हिमाचल (68/68)
BJP - 146 BJP - 33
AAP - 08 CONG - 32
CONG - 25 AAP - 00
OTH - 02 OTH - 03
Rohit Sharma Six

Rohit Sharma: सीरीज गंवाने के बाद भी कप्तान रोहित ने रचा इतिहास, ऐसा रिकॉर्ड...

0
नई दिल्ली। भारत और बांग्लादेश के बीच खेले जा रहे तीन मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में टीम इंडिया को 5 रनों...

खतौली उपचुनाव: ख़त्म हुआ पहला राउंड पलटी बाजी, रालोद के मदन भैया आगे

0
खतौली : मतगणना के समय जहां भाजपा और रालोद में कांटे की टक्कर देखने को मिल रही थी वहीं अब मदन भैया ने इस...

Gujarat Elections 2022: जामनगर उत्तर से रीवाबा जडेजा आगे

0
जामनगर. गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजें आने शुरू हो गए हैं, सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हो गई. सबसे पहले पोस्टल बैलेट की...

Kurhani By Election: कौन बनेगा कुढ़नी का किंग ? पहले राउंड में BJP आगे...

0
कुढ़नी : बिहार के मुजफ्फरपुर जिले की कुढ़नी विधानसभा सीट पर पहले राउंड की मतगणना पूरी हो चुकी है. जहां शुरुआती रुझानों में जेडीयू...

Coronavirus Peak in India: देश में इस समय आएगा कोरोना पीक, ऐसे करें बचाव

Coronavirus Peak in India: 

नई दिल्ली, Coronavirus Peak in India: देश में कोरोना की बेकाबू रफ्तार ने सभी को घर में बंद रहने पर मजबूर कर दिया है, ऐसे में IIT के प्रोफेसर मनिंदर अग्रवाल ने बताया कि भारत में जनवरी के अंत या फरवरी की शुरुआत में कोरोना का पीक आ सकता है. उन्होंने यह भी बताया कि यह पीक खत्म होने पर कोरोना के केसेज़ में तेज़ी से कमी देखने को मिलेगी.

आ सकते हैं 4-5 लाख नए केस- मनिंदर अग्रवाल (Coronavirus Peak in India)

देश में कोरोना के बढ़ते आंकड़ें वाकई चिंताजनक हैं. बीते 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 1.79 लाख मामले सामने आए जबकि ओमिक्रॉन के 4000 से ज्यादा मामले आए हैं. ऐसे में IIT प्रोफेसर मनिंदर अग्रवाल ने जनवरी के आखिर में कोरोना के पीक आने की चेतावनी दी है. उन्होंने बताया कि जनवरी के आखिर में भारत में हर रोज़ 4 से 5 लाख नए केस आ सकते हैं. जबकि दिल्ली और मुंबई में औसतन 40000 केस रोज़ आ सकते हैं.

हो सकती है बेड्स की कमी- मनिंदर अग्रवाल (Coronavirus Peak in India)

मनिंदर अग्रवाल ने आगे बताया कि पीक जाने के बाद देश में कोरोना के मामलों में गिरावट आने लगेगी. उन्होंने अस्पतालों में बेड्स फुल होने पर बताया कि इस बार ज़्यादातर लोगों को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ रही है लेकिन कोरोना की पीक के समय अगर चरणबद्ध तरीके से योजना नहीं बनाई गई तो बेड्स फुल हो सकते हैं.

एक्सपर्ट्स की सलाह 

देश में कोरोना की तीसरी लहर पर एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस लहर से बचाव के लिए जितना हो सके उतना घर में रहे, बहुत जरूरी काम पड़ने पर ही बाहर रखें. मास्क और सामजिक दूरी के पालन से ही कोरोना से बचाव संभव है.

 

यह भी पढ़ें:

Corona Cases in India today : देश में कोरोना का कोहराम, एक दिन में मिले 1.80 लाख केस, 146 की मौत

Latest news