नई दिल्ली: दिनों-दिन भारत में कोरोना गंभीर रूप लेता जा रहा है. हालात बेकाबू होने की कगार पर है. देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तीन लाख के पार हो गया है. शुक्रवार को कोरोना के 10,000 नए मामले दर्ज किए गए, जिसके बाद संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 308993 लाख हो गया है. कोविड-19 अबतक देशभर में 8884 लोगों की जिंदगी छीन चुका है. हालांकि इस सारी बुरी खबरों के बीच अच्छी खबर ये है कि कोरोना से अबतक 154330 मरीज पूरी तरह ठीक भी हो चुके हैं

लेकिन देश के सामने चिंता की बात ये है कि कोरोना के फैलने की रफ्तार तेज हो रही है. महज 10 दिनों में ही कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तीन लाख के पार हो गया. जबकि इससे पहले 1 लाख से 2 लाख तक का आंकड़ा पार करने में 14 दिन का वक्त लगा था लेकिन दो लाख से तीन लाख होने में महज 10 दिन लगे हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक 18 मई को कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या एक लाख के पार पहुंच गई थी. उसके बाद 2 जून को ये आंकड़ा डबल यानी दो लाख हुआ. यानी 1 लाख से 2 लाख का आंकड़ा पार करने में 14 दिन का समय लगा, वहीं दो लाख से तीन लाख का आंकड़ा 10 दिन में ही पार हो गया. 8 जून को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा ढाई लाख के पार हुआ था. 8 जून को जहां देश में मरीजों का आंकड़ा 2 लाख 56 हजार 611 था, तो वहीं अब चार दिन बाद ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर तीन लाख के पार हो गया है. मतलब ये कि महज चार दिन में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 50 हजार से ज्यादा बढ़ी है.

Fact Check: 55 साल से ज्यादा उम्र वाले 5 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है? जानिए क्या है सच

Supreme Court Relief to Employers: सुप्रीम कोर्ट ने दिया लॉकडाउन में पूरी सैलरी ना देने वाली कंपनियों पर सख्त कार्रवाई ना करने का आदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App