नई दिल्ली: भारत में कोरोना की रफ्तार अब तेज होती जा रही है. पिछले 24 घंटों की बात करें तो देश में 50 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं जबकि इस दौरान 871 लोगों की मौत हुई है. पिछले 24 दिनों में कोरोना के मामले 10 लाख से बढ़कर 22 लाख के पार हो गए हैं. पिछले चार दिनों से लगातार 50 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. राहत की बात ये है कि जिस रफ्तार से कोरोना संक्रमण फैल रहा है उसी रफ्तार से लोग ठीक भी हो रहे हैं. भारत में अबतक 15 लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके है. पिछले 24 घंटों की बात करें तो 47,745 लोग स्वस्थ हुए हैं. भारत में कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की दर करीब 70 फीसदी है जबकि मृत्यु दर गिरकर लगभग 2 फीसदी है.

भारत में 17 जुलाई को कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 10,03,832 थी और मौत का आंकड़ा 25,602 था जबकि 7 अगस्त को कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 20,27,074 हो गई और मौत का आंकड़ा 41,585 पहुंच गया. देश में कोरोना संक्रमित मामले 1 लाख पहुंचने में 110 दिन लगे जबकि दो लाख पहुंचने में महज 14 दिन लगे. अगले 18 दिनों में कुल आंकड़ा 4 लाख तक पहुंच गया है.

फिलहाल देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 22,68,675 हो गई है और मरने वालों की संख्या बढ़कर 45,257 हो गई है. इसके अलावा 15,83,489 मरीज ठीक होकर घर पहुंच गए हैं. देश में कोरोना का पहला मामला 30 जनवरी को देखने मिला था. आंध्र, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल, ये 8 राज्य ऐसे हैं जहां कोरोना महामारी से 2000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, अरुणाचल, मिजोरम और सिक्किम ऐसे राज्य हैं जहां 5 से कम लोगों की जान गई है. अरुणाचल में 3, सिक्किम में 1 की मौत हुई है और मिजोरम में इस बीमारी से किसी की मौत नहीं हुई है.

Pranab Mukherjee on Ventilator: आर्मी हॉस्पिटल में वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफल रही ब्रेन सर्जरी

74th Independence Day: स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए लाल किले में लगाई जा रही है कोरोना प्रूफ लेप, जानिए इस बार कैसा होगा कार्यक्रम?