नई दिल्ली: अगर आप ये खबर अपने मोबाइल फोन पर पढ़ रहे हैं तो आपके लिए ये जानना जरूरी है कि आपके फोन में भी कोरोना वायरस 4 घंटे तक जिंदा रह सकता है. जी हां, कोरोना वायरस सरफेस से मोबाइल तक आ सकता है और वहां करीब चार घंटों तक जिंदा रह सकता है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन की रिपोर्ट के मुताबिक SARS-CoV वायरस जिसे 2003 में पहचाना गया था वो कांच की सतह पर 96 घंटों तक जिंदा रह सकता है यानी लगभग 4 दिनों तक वो वायरस कांच पर जिंदा रह सकता है.

कांच के अलावा ये वायरस हार्ड प्लास्टिक की सतह और स्टील पर करीब 72 घंटों तक जिंदा रह सकता है यानी करीब 3 दिनों तक ये वायरस वहां रह सकता है. आप और हम सब ये बात अच्छे से जानते हैं कि लॉकडाउन के दौरान अगर किसी चीज का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है तो वो है मोबाइल फोन. ज्यादातर लोग इन दिनों देश-दुनिया से जुड़े रहने के लिए मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं. यहां तक की कई लोग वर्क फ्रॉम होम भी मोबाइल फोन से ही कर रहे हैं.

ऐेसे में आप पूरी एहतियात बरतें और डेटॉल या एल्कोहॉल युक्त सेनेटाइजर को रूमाल या किसी सूती कपड़े से भिगाकर हर चार घंटों में अपने मोबाइल को ऊपर से साफ करें. खास तौर पर तब जब आप कहीं बाहर से आए हों. इसके अलावा ये भी कोशिश करें कि आपका फोन या आपका लैपटॉप कोई बाहरी आदमी ना छुए. ऐसा इसलिए क्योंकि देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 1637 हो गई है. देशभर के मरकजों में शामिल होने वाले लोगों की वजह से एक ही दिन में भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 240 तक बढ़ गई है. इसके अलावा कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या भी बढ़कर 38 हो गई है.

IFFCO Donates 25 Crores to PM Cares Fund: कोरोना के खिलाफ जंग मे मदद के लिए आगे आया IFFCO, पीएम केयर्स फंड में दिए 25 करोड़

Nizamuddin coronavirus scare: निजामुद्दीन मरकज में रहने वाले 24 लोगों में कोरोना की पुष्टि, मौलाना के खिलाफ दर्ज होगा केस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर