Increasing omicron cases

नई दिल्ली. Increasing omicron cases देशभर में कोरोना के नए वैरिएंट से दहशत का माहोल है. इस वायरस से आम लोग,सरकार और स्वास्थ्य विभाग चिंतित है. भारत में हर रोज इस वैरिएंट के लगभग 100 से अधिक मामले दर्ज किए गए है. ऐसे में एकबार फिर से कोविड-19 गाइडलाइन और पाबंदियां देश में शुरू हो गई है. कई राज्यों ने इस वायरस से निपटने के लिए नाईट कर्फ्यू का ऐलान किया है. केंद्र की ओर से राज्यों को विशेष टीम भी भेजी गई है.

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलो के बीच AIIMS के असिस्टेंट प्रोफेसर और पूर्व आरडीए प्रेसिडेंट डॉक्टर एएस मल्ही ने कहा कि देश में तीसरी लहर कभी भी आ सकती है, इसलिए सभी को सतर्क रहने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा इस वायरस से सबसे ज़्यादा परेशानी हेल्थ वर्कर्स को है, जो हमेशा मरीजों के संपर्क में रहते है. इस वक़्त देश में सभी अस्पतालों के ओपीडी और जनरल वार्ड लगभग भरे हुए है, अस्पताल में हर रोज सेकड़ो मरीज आते है, ऐसे में यह सुनिश्चित करना मुश्किल है कि कौन सा मरीज इस वायरस से पीड़ित है. इसलिए हेल्थ वर्कर्स को ज़्यादा जागरूक और सतर्क रहने की आवश्यकता है. सभी हेल्थ वर्कर्स को इस समय डबल मास्क और फेस शील्ड का इस्तेमाल करना चाहिए।

फेस शील्ड का करें इस्तेमाल

AIIMS के कई वरिष्ठ डॉक्टरों का मानना है कि डबल मास्क के साथ-साथ फेस शील्ड भी इस्तेमाल करना जरुरी है क्योकि ओमिक्रॉन के संक्रमण की रफ़्तार पहले से मौजूद डेल्टा वैरिएंट से तेज है. ऐसे में सभी हेल्थ वर्कर्स और अन्य लोगों को फेस शील्ड इस्तेमाल करना चाहिए। वहीँ देश में मौजूद कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के मामले अभी भी कम नहीं हुए है, ओमिक्रॉन के साथ-साथ डेल्टा वैरिएंट के मामलो में भी पीछले कुछ समय से उछाल देखा गया है.

देश में एक दिन में बढे 156 केस

भारत में कोरोना के नए वैरिएंट के एक दिन में सबसे सर्वधिक मामले 156 दर्ज किए गए है और इसी के साथ देश में ओमिक्रॉन से संक्रमितों का आकड़ा 578 हो गया हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 578 लोगों में से 151 लोग इस वायरस से ठीक होकर घर लौट गए हैं. भारत में ओमिक्रॉन 19 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों तक पहुंच गया है. ओमिक्रॉन के सबसे ज़्यादा मामले राजधानी दिल्ली में दर्ज किए गए है, जहा संक्रमितों का आकड़ा 142 है, इसके बाद महाराष्ट्र 141, केरल में 57, गुजरात में 49, राजस्थान में 43 और तेलंगाना में 41 मामले सामने आए हैं.

केंद्र ने राज्यों को भेजी स्पेशल टीम

देशभर में कोरोना और ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र समेत 10 राज्यों में स्पेशल टीम भेजी है. यह विशेष टीम राज्यों के स्वास्थ्य अधिकारीयों के साथ 4 से 5 दिन रहेंगी और कोरोना और ओमिक्रॉन के मामलों पर मिलकर काम करेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि यह विशेष टीम महाराष्ट्र, तमिलनाडु, केरल, मिजोरम, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, बिहार, झारखंड उत्तर प्रदेश, और पंजाब में भेजी गई है.

यह भी पढ़े;

Haryana: नागरिक सुशासन सूचकांक 2021 में हरियाणा बना न.1 राज्य, सीएम खट्टर ने जताई खुशी

How to Register for Children’s Vaccinations 15 से 18 साल तक के बच्चों का वैक्सीन तीन जनवरी से शुरू, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर