नई दिल्ली. भारत में कोरोना की दूसरी लहर थमने का नाम ही नहीं ले रही है. इस कारण केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन की रफ्तार भी तेज कर दी है. इस बीच कई राज्यों ने वैक्सीन की डोज की शॉर्टेज की शिकायत की है. जिसके बाद राज्य सरकारों और केंद्र के बीच तकरार जैसी स्थिति हो गई है.

महाराष्ट्र, हरियाणा और ओडिशा समेत कई राज्यों ने दावा किया है कि उनके यहां वैक्सीन की कमी हो गई है. महाराष्ट्र के मुंबई, सतारा-सांगली में वैक्सीन सेंटर ठप हो गए हैं. वहीं, ओडिशा ने भी केंद्र सरकार से वैक्सीन डोज की मांग की है. इसके साथ ही दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि राज्य में अब सिर्फ 4-5 दिन का स्टॉक रह गया है. लिहाजा वैक्सीन की खुराक भेजी जाए. हालांकि, केंद्र सरकार ने राज्यों के इस दावे को बेबुनियाद बताया है. केंद्र का कहना है कि देश में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की खुराक है. इसलिए राज्य सरकारें मामले को लेकर राजनीति न करें.

इन राज्यों में है वैक्सीन की कमी

दिल्ली: दिल्ली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने केंद्र के आरोपों को लेकर कहा कि हम भी यह कह सकते हैं कि दिल्ली में केंद्र सरकार के अस्पतालों में ही वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी है. केंद्र के अस्पतालों में सिर्फ 30-40 फीसदी वैक्सीनेशन हुआ है, इसी वजह से दिल्ली के आंकड़ों में कमी है. लेकिन ये वक्त लड़ने का नहीं, साथ में काम करने का है.

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि चौदह लाख खुराकें अब उपलब्ध हैं जो तीन दिनों तक चलेंगी. हमें हर हफ्ते 40 लाख वैक्सीन खुराक की जरूरत है. हम फिर एक सप्ताह में हर दिन छह लाख खुराकें दे सकते हैं. जो खुराक हमें मिल रही है वह पर्याप्त नहीं है.”उन्होंने केंद्र से एक दिन में लगभग 5 लाख लोगों को टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए केंद्र से चुनौती स्वीकार की. अब हम एक दिन में लगभग 5 लाख लोगों का टीकाकरण कर रहे थे.”

ओडिशा: ओडिशा के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग के अवर मुख्य सचिव पीके महापात्रा ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर राज्य में टीकाकरण सुचारू ढंग से चलाने के लिए कोविशील्ड की 15-20 लाख खुराक देने का अनुरोध किया है. उन्होंने कहा कि राज्य में उपलब्ध भंडार और टीकाकरण की गति के हिसाब से केवल तीन दिन के लिए और खुराक बची हैं.

नोएडा-गाजियाबाद: राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा और गाजियाबाद में भी अब वैक्सीन का स्टॉक घट रहा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, गाजियाबाद के पास वैक्सीन की 12 हजार और नोएडा के पास 13 हजार खुराक ही बची हैं. गाजियाबाद को वैक्सीन की हाल ही में पांच हजार खुराक ही मिल पाईं. नोएडा में वैक्सीन की कमी के बाद अब टीकाकरण केंद्रों की संख्या 41 रह गई है.

इसके साथ ही छत्तीसगढ़, तेलंगाना और हरियाणा में भी अब कोरोना वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो रहा है. यहां की सरकारों ने केंद्र से बड़ी मात्रा में वैक्सीन देने की अपील की है.

भारत में पिछले 24 घंटों में  कोरोन वायरस के 1,26,789 नए मामलें सामने आए हैं जो अब तक का सबसे अधिक हैं. वहीं सिर्फ महाराष्ट्र में 59,907 मिले हैं जबकि छत्तीसगढ़ की गिनती पहली बार 10,000-अंक से अधिक थी. कर्नाटक और उत्तर प्रदेश ने भी 6,000 से अधिक मामलों की सूचना दी गई. देश में  685 मौतें भी दर्ज की गईं. भारत का अब कुल केस 1,29,28,574 हैं, जिनमें से 8,43,473 सक्रिय मामले हैं और 1,18,51,393 लोग वायरस से उबर चुके हैं.

न्यूजीलैंड के प्रधान मंत्री जैकिंडा अर्डर्न ने गुरुवार को भारत से सभी यात्रियों के लिए अस्थायी रूप से बैन कर दिया है. निलंबन 11 अप्रैल से शुरू होगा और 28 अप्रैल तक चलेगा, एर्डर्न ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस दौरान सरकार यात्रा को फिर से शुरू करने के लिए जोखिम प्रबंधन उपायों को देखेगी.

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कोविड -19 वैक्सीन की दूसरी खुराक ली. उन्होंने 1 मार्च को कोवाक्सिन का अपना पहली खुराक ली थी. मोदी ने ट्वीट किया ]“टीकाकरण हमारे पास वायरस को हराने के कुछ तरीकों में से है. यदि आप वैक्सीन के लिए योग्य हैं, तो जल्द ही अपना शॉट लें, ” वैक्सीन का संचालन करने वाली दो नर्सें पुडुचेरी की पी निवेदा और पंजाब की निशा शर्मा हैं.

Night Curfew in Ghaziabad : नोएडा के बाद गाजियाबाद में भी 17 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू

West Bengal Assembly Election 2021: दीदी इतनी नाराज़ हैं कि अगर आप जय श्री राम कहते हैं, तो वह आपको जेल में डाल देंगे : योगी आदित्यनाथ

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर