कोरोना वायरस के लिए बनी वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन कोरोना संक्रमण रोकने में कारगार रही है। वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले लोग 99% संक्रमित नही हुए। केंद्र सरकार ने बुधवार को यह जानकारी दी। ICMR ने कहा है कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद भी कई लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, लेकिन गौर करने वाली बात है कि ऐसे मामले बहुत कम हैं। भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद कोरोना संक्रमित होने के मामले करीब 0.04% हैं, जबकि सीरम इंस्टीट्यूट के कोविशिल्ड की दूसरी डोज लेने के बाद 0.03% लोग ही कोरोना संक्रमित हुए।

1 करोड़ 57 लाख 32 हजार 754 लोगों ने कोविशिल्ड की दूसरी डोज ली थी। जिनमें से सिर्फ 0.03% यानी 5,014 लोग द्वारा संक्रमित हुए। वहीं 17 लाख 37 हजार 178 लोगों ने कोवैक्सिन की दूसरी डोज ली थी। जिनमें से सिर्फ 0.04% यानी 695 लोग ही द्वारा संक्रमित हुए। डॉ. भार्गव ने कहा, “यह छोटी संख्या है और चिंताजनक नहीं है। वैक्सीन संक्रमण के जोखिम को कम करते हैं। साथ ही मौत और गंभीर संक्रमण को रोकते हैं।

बता दें कि 17 लाख 37 हजार 178 लोगों ने कोवैक्सिन की दूसरी डोज ली थी। इनमें से सिर्फ 0.04% यानी 695 लोग संक्रमित हुए। वहीं 1 करोड़ 57 लाख 32 हजार 754 लोगों ने कोविशिल्ड की दूसरी डोज ली थी। इनमें से सिर्फ 0.03% यानी 5,014 लोग संक्रमित हुए।’ डॉ. भार्गव ने कहा, “यह छोटी संख्या है और चिंताजनक नहीं है। वैक्सीन संक्रमण के जोखिम को कम करते हैं। साथ ही मौत और गंभीर संक्रमण को रोकते हैं।’

बात अगर कोविशिल्ड की करें तो अबतक इस वैक्सीन की पहली डोज 10 करोड़ लोगों को लगाई गईं हैं। जिसमें से 17,145 लोग फिर से कोरोना संक्रमित हो गए। जबकि 1.5 करोड़ लोगों को कोविशिल्ड की दूसरी डोज लगाई गई, जिनमें 5014 लोग पॉजिटिव पाए गए।

Covid Patient Dead Body Exchange: कोविड मृतक का गलत शव दिया, फिर कहा- जो शव मिला है उसी का अंतिम संस्कार कर लो

Kejriwal and PM Modi Meeting on Corona Crisis: सर हाथ जोड़कर प्रार्थना है ऑक्सीजन के लिए एक फोन कर दीजिए, पीएम मोदी से बोले अरविंद केजरीवाल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर