नई दिल्ली. देश भर थम रही कोरोना की दूसरी लहर के बीच एक चिंताजनक खबर आ रही है कि साउथ अफ्रीका, बोत्सवाना और हांगकांग में नया वैरिएंट B.1.1.529 मिला है जिसे बहुत खतरनाक माना जा रहा है. इसको लेकर केंद्र ने राज्यों को अलर्ट भेजा है और इन देशों से आने वाले यात्रियों की जांच करने और उन पर निगरानी रखने को कहा गया है.

दक्षिण अफ्रीका में 100 से ज्यादा लोग नए वैरिएंट से संक्रमित

वैश्विक स्तर पर कोरोना के नए वैरिएंट की आहट मिल रही है. दक्षिण अफ्रीका और बोत्सवाना में यह नया वैरिएंट पाया गया है. दक्षिण अफ्रीका में अब तक 100 लोग इस नए वैरिएंट से संक्रमित हो सकते हैं. दक्षिण अफ्रीका की द नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कम्यूनिकेबल डिजीस (NICD) के मुताबिक यह संक्रामक हो सकता है. NICD ने बताया कि इस नए कोरोना वायरस वैरिएंट का नाम है B.1.1.529. दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने NGS-SA के सदस्य सरकारी प्रयोगशालाओं और निजी प्रयोगशालाओं को तत्काल जीनोम सिक्वेंसिंग करने की सलाह दी है, जिससे इस वैरिएंट के घातक प्रभाव के बारे में पता चल सके.

भारत सरकार ने दिए अंतराष्ट्रीय यात्रा करने वाले यात्रियों की जांच के सख्त निर्देश

कोरोना के नए वैरिएंट B.1.1.529 की दस्तक से भारत में भी चिंता बढ़ने लगी है. भारत सरकार के स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र साशित प्रदेशों को अंतराष्ट्रीय यात्रा करने वाले यात्रियों की जांच करने के सख्त निर्देश दिए हैं.

विशेषकर दक्षिण अफ्रीका, बोत्स्वाना और हांगकांग की यात्रा करने वालों पर. इनके सैंपल को तत्काल INSOCAG जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जाना चाहिए.

वैक्सीन को मात देने में सक्षम

कोरोना के इस वैरिएंट पर B.1.1.529 लंदन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स कहना है कि यह वैरांट वैक्सीन को मात देने की भी क्षमता रखता है. वहीं, इंपीरियल कॉलेज के वायरोलॉजिस्ट डॉ. टॉम पीकॉक ने वेरिएंट के उत्परिवर्तन के संयोजन को बेहद खतरनाक बताया है. उन्होंने चेतावनी दी कि बी.1.1.529 वेरिएंट अब तक मिले सभी वेरिएंट में सबसे खतरनाक हो सकता है.

यह भी पढ़ें:

Delhi Pollution: प्रदूषण से बिगड़ते हालात, निर्माण कार्यों पर फिर लगाई रोक

Central Government Decision कोविशील्ड और कोवैक्सीन के निर्यात को अनुमति

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर