नई दिल्ली. Corona देश में कोरोना अभी पूरे तरीके से ख़त्म नहीं हुआ है. कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव लगातार जारी है. देश भर में हर रोज 10000 से अधिक कोरोना केस दर्ज किए जा रहे हैं. लेकिन इसी बीच त्योहारी सीजन के चलते बाजारों में एक बार फिर भीड़ उमड़ने लगी है और लोग बाज़ारो में बिना कोरोना गाइडलाइन्स के खरीदारी कर रहे है. मार्च महीने में होली के बाद अचानक कोरोना के मामलों में वृद्धि देखने को मिली थी, जिसके बाद देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन लगाने की जरूरत पड़ी थी. त्योहारी सीजन में भीड़ का बढ़ना देश की चिंताए बड़ा सकता है और देश को तीसरी लहर की ओर धकेल सकता है.

दिल्ली, गुजरात,लखनऊ हर तरफ बाजारों में उमड़ी भीड़

दिल्ली के सभी मुख्य बाजारों में भीड़ दिखाई पड़ रही है. दिल्ली की कमला मार्किट, सरोजनी नगर, चांदनी चौक समेत सभी बाजारों में लोग बिना कोरोना प्रोटोकॉल्स के खरीदारी कर रहे है. वही गुजरात और लखनऊ में भी मुख्य बाज़ारों में भीड़ देखि जा रही है. बाजार में बढ़ती भीड़ भले ही कारोबारियों के लिए अच्छी खबर है, लेकिन देश के लिए यह चिंता का विषय बन सकता है.

कारोबारी भीड़ से खुश

पिछले 2 साल से देश में कोरोना के चलते लोग कम खरीदारी कर रहे थे, जिसके चलते कारोबारियों को भारी नुकसान हुआ था. कोरोना सक्रमण के कम होते ही बाजारों में भीड़ फिर से उमड़ने लगी है, जो देश के लिए अच्छी खबर नहीं है. लोग बिना कोविड-19 गाइडलाइन्स के बाजारों में खरीदारी के लिए निकल रहे है और कोरोना की तीसरी लहर को आमंत्रित कर रहे है.  वहीं, स्वास्थ विभाग के विशेषज्ञो ने देश में बढ़ती भीड़ पर चिंता वक्त की है और, लोगो से कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करने का सन्देश दिया है.

यह भी पढ़ें:

Puneeth Rajkumar death: पुनीत राजकुमार के निधन से फैंस को लगा सदमा, 3 की हुई मौत

Four-year-old son dies after beating father: पिता की पिटाई से चार साल के बेटे की मौत

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर