CORONA Delta Plus Variant: भारत में पहली बार मिला कोविड -19 का अत्यधिक संक्रामक डेल्टा वेरिएंट (B.1.617.2) इंफेक्शन इम्यूनिटी और वैक्सीन को भी चकमा देने में सक्षम है। डेल्टा प्लस को लेकर चिंता इसलिए बढ़ चुकी है कि वैज्ञानिकों का कहना है कि यह वायरस इतना खतरनाक शक्ल अख्तियार कर चुका है कि यह न तो वैक्सीन की सुनता है और न ही इंफेक्शन की वजह से पैदा हुई नैचुरल इम्यूनिटी की, यहां तक कि यह कोविड के इलाज में इस्तेमाल हो रही कुछ बेहद ही सफल दवा को भी चकमा देने में सक्षम हो सकता है।

विशेषज्ञों के अनुसार डेल्टा वेरिएंट लगातार अपना रूप बदल रहा है और इसके म्यूटेशन बेहद संक्रामक हैं. ये लोगों में बेहद अधिक संख्या में वायरल इंफेक्शन पैदा करता है और तेजी से फैलता है।

IGIB के निदेशक डॉक्टर राजेश पांडेय ने बताया कि, “लैब में हुई रीसर्च से पता चलता है कि डेल्टा वेरिएंट के अंदर इम्यून सिस्टम को चकमा देने की अत्यधिक क्षमता है. ये बहुत तेजी से फैलता है और हेल्थकेयर वर्कर्स में वैक्सीन की दोनों डोज लगने के बाद भी इंफेक्शन होने का मुख्य कारण है।” साथ ही उन्होंने कहा, “हमें इसको लेकर बेहद सतर्क रहने के जरुरत है खासकर की वर्तमान में जब इसके दूसरे रूप डेल्टा प्लस के मामलें भी तेजी से सामने आ रहे हैं. हालांकि ये इम्यूनिटी को किस हद तक चकमा देने में सक्षम है इसको लेकर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।”

Antivirus Creator McAfee Found Dead: एंटीवायरस निर्माता जॉन मैकेफी संदिग्ध हालत में जेल में पाए गए मृत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर