नई दिल्ली: कोरोना के चलते देशभर में लॉकडाउन है ये तो आप पिछले दिनों में दिन में कई दफा सुनते होंगे लेकिन अब आपको एक नया शब्द सुनने को मिल रहा होगा हॉटस्पॉट. न्यूज चैनलों पर पिछले दो दिनों से आपको ये शब्द सुनने को मिल रहा होगा कि कई हॉटस्पॉट इलाकों को सील कर दिया गया है. अगर आपको भी दिमाग में ये सवाल है कि हॉटस्पॉर्ट क्या है और ये होने पर क्या होता है तो हम आपको आपके सवालों का जवाब देंगे.

हॉटस्पॉट दरअसल वो इलाका होता है जो किसी भी साइज का हो सकता है. वो एक घर हो सकता है. एक इलाका हो सकता है, एक कॉलोनी हो सकती है, एक अपार्टमेंट हो सकता है यानि हॉटस्पॉर्ट किसी भी साइज का वो इलाका जहां कई कोरोना संक्रमित लोग मिले हैं और वहां इस वायरस के फैलने की और अधिक संभावना है, उन इलाकों को हॉटस्पॉट कहा जाता है. अधिकारी ऐसे इलाकों की पहचान करते हैं और अगर उन्हें लगता है कि यहां रह रहे लोग लॉकडाउन का पूरी तरह पालन नहीं कर रहे तो वो उसे हॉटस्पॉट घोषित कर देते हैं और वहां और सख्ती कर देते हैं.

हॉटस्पॉट इलाकों में लॉकडाउन का पूरी तरह पालन होता है यानी वहां किसी भी तरह की दुकान नहीं खुलेगी. हर प्रवेश और निकास द्वार पर पुलिस की बैरिकेटिंग होगी और बाहर से आने वाले को अंदर नहीं जाने दिया जाएगा और अंदर रहने वालों को बाहर नहीं जाने दिया जाएगा. जो लोग पब्लिक के कामों से जुड़े हैं सिर्फ और सिर्फ उन्हीं चुनिंदा लोगों के लिए पास बनेगा और वो बाहर आ जा सकेंगे.

जिन इलाकों में हॉटस्पॉट लग जाता है वहां लोगों को बिलकुल घर से बाहर नहीं निकलने दिया जाता. उन्हें कहीं जाने की इजाजत नहीं होती. हॉटस्पॉर्ट लगने के बाद सिर्फ एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड और पुलिस की गाड़ियों को ही इलाके में आने- जाने की अनुमति होती है. इन इलाकों में मीडिया को भी जाने की इजाजत नहीं दी जाती. इस दौरान प्रशासन घरों में जाकर जरूरी सामान जैसे राशन, दवा, फल, सब्जी जैसी चीजों की आपूर्ती करता है और घर घर जाकर ये जांच करता है कि कहीं परिवार के किसी व्यक्ति के भीतर कोरोना के लक्षण तो नहीं. यूपी सरकार ने नोएडा समेत 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों को सील कर दिया है इस दौरान लोगों के लिए नंबर जारी किया गया है और वो नंबर है 18004192211. यहां फोन कर आप अपनी जरूरत की चीज मंगवा सकते हैं.

Corona Impact on Economy: कोरोना संकट के बाद भारत में 40 करोड़ लोगों के सामने पैदा होगा बेरोजगारी का संकट, संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक- दूसरे विश्वयुद्ध के बाद का सबसे बुरा दौर

COVID 19 Update: कोरोना की दवा समझकर पी ली जहरीली शराब, 600 लोगों की दर्दनाक मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर