नई दिल्ली: एक तरफ लोग कोरोना संक्रमण के चलते बैंक लोन और ईएमआई की चिंता में हैं वहीं कुछ ठगों और जालसाजों ने इसे लोगों को लूटने का हथियार बना लिया है. ये ठग लोगों को बैंक और लोन डिपार्टमेंट के नाम से फोन और मैसेज करके कह रहे हैं कि आपकी ईएमआई टाल दी गई है. इसके बाद वो कोडिंग किया हुआ एक लिंक भेजते हैं जिसके बाद ग्राहकों से उनके फोन पर आया वन टाइम पासवर्ड यानी ओटीपी मांगा जाता है. ग्राहक जैसे ही वो ओटीपी भेजते हैं वैसे ही उनके अकाउंट से पैसे कट जाता है. बैंकों ने अपने ग्राहकों को ऐसे कॉल और मैसेज से सावधान रहने की अपील की है.

साइबर सेल के मुताबिक साइबर ठग बैक प्रतिनिधि बनकर ग्राहकों को फोन कर रहे हैं. वो ग्राहकों को कह रहे हैं कि कोरोना के चलते बैंक ने आपकी तीन महीने की इंस्टालमेंट माफ कर दी है. इसके लिए वो ग्राहकों से उनके फोन पर आई एक ओटीपी की मांग करते हैं. जो ग्राहक इस झांसे में आ जाते हैं और अपने फोन पर आया ओटीपी बता देते हैं तो तुरंत ही उनके बैंक अकाउंट में रखी सारे पैसे गायब हो जाते हैं.

भारतीय स्टेट बैंक ने ट्वीट कर अपने ग्राहकों को ऐसे ठगों से सचेत रहने को कहा है. एसबीआई ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन के बीच साइबर ठगों ने लोगों से ठगी करने का नया तरीका ढूंढ लिया है. इन साइबर ठगों से बचने का सिर्फ एक ही तरीका है और वो है जागरुक्ता. एसबीआई ने ये भी कहा कहा कि ईएमआई को टालने के लिए ओटीपी नंबर की जरूरत नहीं पड़ती है. इसलिए अपने फोन पर आए किसी भी ओटीपी को किसी के साथ शेयर ना करें. बैंक ने कहा है कि अगर आपको लोन संबंधी कोई जानकारी चाहिए तो https://bank.sbi/stopemi पर संपर्क कर सकते हैं.

इसी तरह निजी क्षेत्र के अग्रणी बैंक ICICI बैंक ने भी ग्राहकों को ऐसे जालसाजों से दूर रहने और उनके झांसे में ना आने की अपील की है. बैंक ने ट्वीट कर कहा कि कोई भी बैंक आपके ईएमआई या ब्याज भुगतान को टालने के लिए कभी भी ओटीपी, यूजर आईडी, पासवर्ड जैसी डिटेल नहीं मांगता. इसलिए किसी भी तरह के झांसे में ना आएं और ना ही इस तरह के किसी संदेश को आगे बढ़ाएं.

Shab E Barat Mubarak 2020 Date: कब है शब ए बारात, क्या है इस्लाम में इसका महत्व

Coronavirus Lockdown Update: 14 अप्रैल को बाद लॉकडाउन खुलेगा या नहीं? ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की मीटिंग में लिया गया फैसला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App