नई दिल्ली. इस्लाम धर्म के विवादित प्रचारक जाकिर नाइक अब मलेशिया में अपना चैनल खोलने की फिराक में है. वैसे जाकिर नाईक के कई टीवी चैनल चल रहे हैं और उसका लोकप्रिय टीवी चैनल पीस टीवी पर केई देशों में बैन लगा हुआ है. इस मामले पर विदेश मंत्रालय का कहना है कि जाकिर के अनुरोध पर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है और वहां की स्थिति के बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है.

जाकिर नाइक के मलेशिया में टीवी चैनल खोलने के मामले पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से जाकिर नाइक का ये प्रस्ताव पेंडिग है. उसको जमीन दिए जाने के मामले में कुछ कहना जल्दबाजी होगी और ये इतना आसान भी नहीं है. इस मामले पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है. तो वहीं उसके प्रत्यर्पण के बारे में बात करते हुए रवीश कुमार ने कहा कि इस साल जनवरी में आपराधिक मामलों के आधार पर उसके प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक अनुरोध किया था और ये अनुरोध मलेशिया सरकार की तरफ से विचाराधीन है.

आपको बता दें कि पिछले हफ्ते ही जाकिर नाइक ने मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के साथ मुलाकात की थी. इसके ठीक बाद महातिर मोहम्मद ने जाकिर नाइक को प्रत्यपर्ण कर भारत भेजने से इनकार कर दिया था. उन्होंने कहा था कि जब तक वो मलेशिया में परेशानी पैदा नहीं कर रहा है तब तक उसका प्रत्यर्पण नहीं किया जाएगा. जाकिर को मलेशिया की नागरिकता भी मिली हुई है.

कुछ दिनों पहले खबरें फैली थीं कि जाकिर नाइक का प्रत्यर्पण कर भारत लाया जा सकता है लेकिन विदेश मंत्रालय ने साफ किया कि इस तरह की खबरों में कोई सच्चाई नहीं है. बता दें कि जाकिर नाइक भारत में नफरत फैलाने वाले अपने भाषणों से युवाओं को आतंकवादी गतिविधयों के लिए उकसाने और मनी लॉन्ड्रिंग जैसे मामलों का आरोपी है.

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद बोले- जाकिर नाइक को नहीं भेजेंगे हिंदुस्तान

मैं बेकसूर हूं, एक दिन एजेंसियां मुझे आरोप मुक्त कर देंगीः जाकिर नाईक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App